मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में शुक्रवार को आयोजित कैबिनेट की बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये. बैठक में 2021-22 में राज्य के चिह्नित 2803 प्रारंभिक विद्यालयों में बेंच व डेस्क की खरीद के लिए 99 करोड़ 75 लाख की राशि मंजूर की गयी. इसके अलावा कैबिनेट द्वारा कोविड 19 संक्रमण से बचाव के लिए राज्य के सभी सरकारी प्राथमिक, मध्य, माध्यमिक, उच्च विद्यालय (कक्षा एक-12 तक) के छात्र-छात्राओं को विद्यालय में कक्षा आरंभ करने के पहले दो-दो मास्क जीविका द्वारा उपलब्ध कराया गया था.

मिली स्वीकृति…

इसके भुगतान के लिए कैबिनेट ने 51 करोड़ 76 लाख 52 हजार का बिहार आकस्मिकता निधि से अग्रिम स्वीकृति दी गयी. कैबिनेट सचिव ने बताया कि पूर्वी चंपारण जिले के चकिया-केसरिया- सत्तरघाट पथ में गंडक नदी के सत्तरघाट पर भू-अर्जन, दो लेन वाले पहुंच पथ निर्माण कार्य के अलावा रिवर ट्रेडिंग कार्य व गाइडलाइन बांध निर्माण कार्यों के साथ उच्चस्तरीय आरसीसी पुल के निर्माण के लिए चार अरब 48 करोड़ 64 लाख की स्वीकृति दी गयी.

इसके साथ ही वामपंथ उग्रवाद प्रभावित क्षेत्रों के लिए सड़क संपर्क योजना के तहत राज्य के तीन जिले औरंगाबाद, बांका और गया के तहत बैच-1 वर्ष 2021- 22 में 11 अदद पथ जिसकी लंबाई 189.20 किलोमीटर और एक अदद पुल के निर्माण की स्वीकृति दी गयी. इसके लिए 265 करोड़ 36 लाख 16 हजार की प्रशासनिक स्वीकृति दी गयी.

17 हजार सैप जवानों को मिलेगा अवधि विस्तार

कैबिनेट द्वारा बिहार पुलिस के तहत गठित स्पेशल ऑक्जिलरी पुलिस में कार्यरत भारतीय सेना के सेवानिवृत्त सैनिकों के लिए कुल स्वीकृत 17000 बल के अनुबंध अवधि को वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए विस्तारित करने की स्वीकृति दी गयी. कैबिनेट द्वारा बिहार संग्रहालय, पटना (राज्य सरकार के कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के तहत सोसाइटीज निबंधन अधिनियम 1860 के तहत निबंधित संस्था) के नियम में परिवर्तन किया गया है. इसमें निदेशक बिहार संग्रहालय का पदनाम बदलकर महानिदेशक, बिहार संग्रहालय किये जाने और निदेशक के निजी सहायक का पदनाम बदलकर महानिदेशक के निजी सहायक करने की स्वीकृति दी गयी.

Leave a Reply