प्रखंड क्षेत्र में हुई एक शादी चर्चा का विषय बनी है। अइमा चौकी सूर्य मंदिर में सोमवार को एक अंतरजातीय विवाह हुआ। कटारीहिल की रहने वाले खुर्शीद आलम की पुत्री कहकशां अली ने चिरैली, खिजरसराय के रहने वाले मिथलेश राम के बेटे चंदन कुमार से हिंदू रीति-रिवाज से शादी की। लड़का अविवाहित था, जबकि लड़की तलाकशुदा थी। उसे पहले से एक दस वर्ष का बच्चा राजा है।

कहकशां की पहली शादी झारखंड में हुई थी, लेकिन आठ वर्ष पहले उसका शौहर से तलाक हो गया था। तलाक के बाद लड़की चिरैली बाजार में एक एजेंसी में काम करती थी। लड़का भी उसी एजेंसी में काम करता था। काम के दौरान ही दोनों में नजदीकियां बढ़ीं और प्रेम हुआ तो दोनों ने अइमा चौकी सूर्य मंदिर पहुंचकर शादी कर ली। शादी में लड़का पक्ष के माता-पिता व गांव के सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित रहे। हालांकि लड़की पक्ष की तरफ से कोई भी शामिल होने नहीं हुआ। शादी को लेकर चिरैली पंचायत के नवनिर्वाचित मुखिया मुकेश कुमार ने कहा कि अब न्यायालय में भी नियमानुसार विवाह होगा। इस अंतरजातीय विवाह में 32 लोग गवाह बने। एक सादे कागज पर महिलाएं व पुरुषों ने दस्तखत कर सामाजिक रूप से सहमति दी।

चाचा व भाई ने कहकशां को घर में नहीं दिया प्रवेश, थाने पहुंचा मामला :

सूर्य मंदिर में हुई शादी को चंद घंटे ही बीते थे कि कहकशां अली को घर में बसाने को लेकर विवाद हो गया। वर चंदन कुमार के स्वजनों ने लड़की को घर में प्रवेश करने नहीं दिया, जिसके बाद मामला फौरन ही खिजरसराय थाने में पहुंच गया। वर चंदन के दोनों भाई और चाचा जितेंद्र राम, संतोष राम, शभु राम ने विरोध जताया। इसी क्रम में लड़के के पिता के साथ चाचा और भाई ने मारपीट भी की। शादी के समय लड़के के पिता मंदिर में उपस्थित थे। उन्होंने किसी तरह की आपत्ति नहीं की थी। थानाध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि जांच की जा रही है।

Leave a Reply