सारण की प्रमंडलीय आयुक्त पूनम की अध्यक्षता में शराबबंदी कानून के तहत पूरे प्रमंडल में की जा रही कार्रवाई की समीक्षा कार्यालय कक्ष में हुई. बैठक में विशेष रूप से भाग लेने के लिए पटना से उत्पाद आयुक्त सह निबंधन महानिरीक्षक बी कार्तिकेय धनजी आये हुए थे. उनके साथ वरीय पुलिस पदाधिकारी भी थे. बैठक में उत्पाद आयुक्त ने प्रमंडल के तीनों जिलों के जिला पदाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक को बिहार में लागू शराबबंदी कानून को सख्ती से लागू करवाने के लिए हर संभव प्रयास करने को कहा. इसके लिए पूरे प्रमंडल में व्यापक प्रचार प्रसार अभियान की शुरुआत करने को कहा गया

नये चेकिंग पॉइंट बनाने के साथ-साथ महत्वपूर्ण जगहों पर नये सीसीटीवी कैमरा एवं आवश्यकतानुसार ड्रोन की सहायता से भी गैर कानूनी ढंग से शराब को बनाने व बिक्री करने वालों पर नकेल कसने को कहा गया. नदी के रास्तों पर भी नजर रखने हेतु गश्ती के लिए नाव लेने का भी निर्देश दिया गया. प्रमंडलीय आयुक्त ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि किसी भी कीमत पर शराब के अवैध कारोबार में लगे अराजक तत्वों को बख्शा नहीं जायेगा. दोषियों को फास्ट ट्रैक कोर्ट के जरिये सख्त से सख्त सजा दिलवायी जायेगी

धंधेबाजों पर करें सख्त और त्वरित कार्रवाई

सरकार शराब के धंधेबाजों पर त्वरित कार्रवाई करने की मंशा रखती है. बैठक में डीआइजी सारण प्रमंडल, प्रमंडल के तीनों जिला के जिला पदाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, उत्पाद अधीक्षक, विशेष शाखा के पदाधिकारी उपस्थित थे. मालूम हो कि प्रमंडल के गोपालगंज में शराब पीने से कई लोगों की मौत हो गयी है. साथ ही पड़ोसी जिला मोतिहारी में भी शराब से कई लोगों की मौत हुई है. इन घटनाओं के बाद राज्य सरकार ने अब शराब माफियाओं को जेल पहुंचाने का निर्णय लिया है.

Leave a Reply