बिहार बोर्ड मैट्रिक मूल्यांकन की तैयारी पूरी हो गयी है। मूल्यांकन को लेकर बिहार बोर्ड ने मूल्यांकन निर्देशिका जारी किया है। मैट्रिक मूल्यांकन समय पर समाप्त हो इसके लिए सुबह आठ बजे से नौ बजे रात तक मूल्यांकन किया जायेगा। दो पाली में मूल्यांकन होगा। इसकी जानकारी सभी मूल्यांकन केंद्र निदेशक को बोर्ड द्वारा दी गयी है। प्रथम पाली में सुबह आठ से दो बजे और द्वितीय पाली तीन बजे से रात नौ बजे तक मूल्यांकन होगा। सभी प्रधान परीक्षक, सह परीक्षक और परीक्षा से जुड़े कर्मी को सुबह 7.30 बजे निर्धारित मूल्यांकन केंद्र पर प्रवेश कर जाना है।

मैट्रिक मूल्यांकन में किसी तरह की गड़बड़ी करने वाले परीक्षक पर कार्रवाई होगी। इसके लिए बिहार बोर्ड ने सभी मूल्यांकन केंद्र के परीक्षकों को इसकी जानकारी दी है।

परीक्षकों को पूरी सावधानी के साथ उत्तरपुस्तिका जांचने का निर्देश दिया गया है। बोर्ड द्वारा मूल्यांकन निर्देशिका निकाली गयी है। मूल्यांकन निर्देशिका में दिये गये निर्देश के अनुसार उत्तरपुस्तिका की जांच करनी है।

नियुक्ति पत्र के साथ चार को देना है योगदान
बोर्ड की मानें तो मूल्यांकन केंद्र पर परीक्षकों की कमी होने पर संबंधित डीईओ द्वारा स्थानीय स्तर पर प्रधान परीक्षक या सह परीक्षक की नियुक्ति की जाएगी। इंटर मूल्यांकन की तरह मैट्रिक मूल्यांकन में भी अतिथि शिक्षकों को लगाया जा सकता है। ज्ञात हो कि मैट्रिक मूल्यांकन पांच से 17 मार्च तक चलेगा। बोर्ड द्वारा सभी प्रधान परीक्षक, सह परीक्षक और एमपीपी का नियुक्ति पत्र जारी कर दिया है। सभी मूल्यांकन केंद्र पर भेज दिया गया है। सभी परीक्षकों को नियुक्ति पत्र के साथ निर्धारित मूल्यांकन केंद्र पर चार मार्च को योगदान देनी है।

Leave a Reply