बिहार में नए एयरपोर्ट के विकास को लेकर सरकार गंभीरता दिखा रही है। पटना और गया एयरपोर्ट को विकसित करने के साथ ही दरभंगा एयरपोर्ट पर भी यात्री सुविधाओं के विस्‍तार की कवायद तेज होने लगी है। उप मुख्‍यमंत्री तार किशोर ने बताया कि सरकार ने दरभंगा एयरपोर्ट के विकास के लिए बजट का प्रविधान किया है। इससे एयरपोर्ट पर यात्रियों को अधिक से अधिक सुविधा उपलब्‍ध कराने में मदद मिलेगी।

उप मुख्‍यमंत्री ने सदन में दी जानकारी

बिहार विधान मंडल में वित्तीय वर्ष 2021-22 के आय-व्यय से संबंधित तृतीय अनुपूरक विवरणी का उपस्थापन बिहार के उपमुख्यमंत्री -सह- वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद द्वारा किया गया है। उन्होंने कहा कि तृतीय अनुपूरक बजट में वार्षिक स्कीम के राज्य स्कीम मद में दरभंगा हवाई अड्डे के लिए 133 करोड़ 34 लाख रुपये प्रविधान किया गया है, जिससे एयरपोर्ट के विकास कार्यों में गति आएगी।

इलाके का औद्योगिक और सामाजिक विकास भी होगा तेज

उन्होंने कहा कि उत्तर बिहार के प्रमुख शहरों में से एक मिथिलांचल की हृदयस्थली माने जाने वाले दरभंगा में हवाई अड्डे के विकास के रास्ते खुले हैं। एयरपोर्ट का संचालन शुरू होने से शहर के विकास के मार्ग प्रशस्त हुए हैं। इससे हवाई अड्डे से सटे इलाकों का औद्योगिक और सामाजिक विकास भी होगा। उन्होंने कहा कि दरभंगा एयरपोर्ट के विकास से शहर में उद्योग-धंधे का विकास, माडर्न टाउनशिप, छोटे कारोबार से स्थानीय युवाओं को बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

राज्‍य में तीन एयरपोर्ट हो चुके चालू

बिहार में फिलहाल तीन एयरपोर्ट आम नागरिक सेवाओं के लिए उपलब्‍ध हो गए हैं। पटना के नजदीक बिहटा में एयरफोर्स की हवाई पट्टी को भी सामान्‍य नागरिक सेवाओं के लिए विकसित करने की योजना बन चुकी है। इसके अलावा रक्‍सौल, गोपालगंज, मुजफ्फरपुर जैसे शहरों में भी एयरपोर्ट चालू करने की मांग होने लगी है। हालांकि केंद्र सरकार की क्षेत्रीय संपर्क योजना में इन एयरपोर्ट को जोड़ने की कोई योजना अब तक नहीं बनी है।

सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के यूट्यूब चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के टेलीग्राम चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के ट्विटर हैंडल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.

Leave a Reply