बिहार में योगी मॉडल (Yogi Model) की जरूरत वाले बयान पर सिायसत खूब हो रही है. डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद (Deputy CM Tar Kishore Prasad) के बयान के बाद विरोधियों को इस मुद्दे पर हमला करने का मौक़ा मिल गया है. आरजेडी के राज्यसभा सांसद मनोज झा कहा कि ‘डिप्टी सीएम तार किशोर प्रसाद नीतीश जी को धमकी दे रहे हैं’. मनोज झा (RJD MP Manoj Jha) ने कहा कि यह तो सीधे तौर पर धमकी हुई कि आपका वाला मॉडल नहीं चल रहा है. मुझे नफरत और बुलडोजर वाला मॉडल चाहिए. अगर डिप्टी सीएम के बयान के बाद उनकी (नीतीश कुमार) तरफ से या उनकी कोर टीम की तरफ से चुप्पी साफ साबित करती है कि जो नेता प्रतिपक्ष कहते हैं कि नीतीश जी पूरा प्लॉट लूज कर चुके हैं कुछ भी नहीं बचा है.

मनोज झा ने कहा कि कुर्सी बहुत महत्वपूर्ण होती है. किसी भी राजनेता के लिए लेकिन कुर्सी ही इंतहा हो जाए आपके राज में आपके राजनीतिक जीवन की कि इस तरह के बयानों को चाह कर भी सुनकर भी आपको चुप्पी साधनी पड़ती है तो यह दुर्भाग्यपूर्ण है. जेडीयू को बीजेपी के योगी माडल का फ़ॉर्म्युला नागवार गुजरा है. जेडीयू ने डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद के योगी मॉडल वाले बयान पर पलटवार किया है. जेडीयू के प्रधान महासचिव के सी त्यागी ने कहा कि बिहार मॉडल सबसे सुडौल स्थाई और पराक्रम से भरा हुआ है और यह पिछले 16-17 सालों से कामयाब है.

त्यागी ने कहा कि बिहार की जनता और बिहार की एनडीए की सरकार को अच्छी चीजें ग्रहण करने की आदत है लेकिन बिहार मॉडल पूरे हिंदुस्तान में ही नहीं पूरे भारतीय उपमहाद्वीप में चर्चे में है. बिहार में सबका साथ सबका विकास काफी पहले इंप्लीमेंट हो चुका है लिहाजा बिहार को किसी दूसरे राज्य की तरफ देखने और सीख लेने की आवश्यकता नहीं है. बिहार की कानून व्यवस्था एक रोल मॉडल है जब स्पेशल कोर्ट बनाकर 80000 लोगों को सजा दिलवाई गई. अभी उत्तर प्रदेश में इस तरह की व्यवस्था शुरू नहीं हुई है केवल योगी जी ने जो घोषणा अवश्य की है.

Leave a Reply