police

शराबबंदी को लेकर 16 नवंबर को हुई हाई लेवल बैठक के बाद उत्पाद विभाग की टीम व बिहार पुलिस दोनों बड़े पैमाने पर छापेमारी अभियान चला रही है. पुलिस विभाग अब यूपी, हरियाणा, झारखंड व नई दिल्ली के शराब माफियाओं को रडार पर ले रखा है. यह सब शराब माफिया है जो अन्य राज्यों से बिहार में शराब की बड़ी खेप सप्लाई करते हैं. पुलिस उन सभी शराब माफियाओं की लिस्ट तैयार कर रही है.

पुलिस सूत्रों के अनुसार पुलिस की लिस्ट में कई बड़े सफेदपोश भी शामिल है और पुलिस जल्द ही उन पर कार्रवाई करने वाली है. पुलिस के वरीय अधिकारियों की मानें तो बिहार में सबसे ज्यादा हरियाणा के तस्कर एक्टिव है, इससे पहले पटना के गर्दनीबाग थाने की पुलिस ने कंटेनर मेलडी शराब की बड़ी खेप पकड़ी थी. पुलिस ने शराबबंदी को करवाई से यह साफ कर दिया है कि इस अभियान में कोई भी नहीं बचेगा. अब डिलीवरी ब्वॉय भी पुलिस से नहीं बच सकेंगे.

अन्य राज्यों में बिहार पुलिस करेगी छापेमारी

शराब पीने वह बेचने वाले धंधेबाजों की कमर तोड़ने के लिए पटना में 13 आईपीएस अफसरों के साथ ही 34 थानेदारों को कमान सौंपी गई है. इनके साथ करीब डेढ़ दर्जन से अधिक पुलिसकर्मी लगाए गए हैं. डाग स्क्वायड को भी छापेमारी में शामिल किया गया है. सर्किल में छापेमारी का नेतृत्व डीएसपी कर रहे हैं. पहले टारगेट पर होटल राज अपार्टमेंट व मुसहरी के इलाके हैं.

पटना में 16 नवंबर से अब तक 876 जगहों पर छापेमारी

पटना जिले में 16 नवंबर से अब तक लगभग 876 स्थानों पर सघन अभियान चलाकर छापेमारी की गई है, इससे मुसहरी रेलवे लाइन गुमटी, खेतिहर इलाका, दियारा क्षेत्र व झुग्गी झोपड़ी शामिल है. वहीं 443 से अधिक होटलों को खंगाला जा चुका है. अब तक की गिरफ्तारी की बात करें तो 200 से अधिक लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं. गिरफ्तार आरोपितों में इंजीनियर, डॉक्टर, होटल संचालक, सरकारी कर्मचारी, डिलीवरी ब्वॉय, होटल स्टाफ, शराब विक्रेता व पीने वाले शामिल है.

Leave a Reply