बिहार का एक बड़ा हिस्‍सा इन दिनों भीषण गर्मी की चपेट में है. प्रदेश के कई इलाकों में आमलोगों को लू का सामना करना पड़ रहा है. इस बीच भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने बिहार के मौसम को लेकर पूर्वानुमान जारी किया है. ताजा अपडेट प्रदेश में 4 दिनों के लिए जारी किया गया है. मौसम विज्ञानियों का कहना है कि बिहार वासियों को फिलहाल हीटवेव से राहत मिलने वाली नहीं है. खासकर दक्षिण और मध्‍य बिहार में तेज गर्म शुष्‍क पछुआ हवा के कारण लू जैसे हालात बने हुए हैं. इसे देखते हुए आईएमडी ने हीटवेव का अलर्ट जारी किया है. साथ ही आमलोगों को भी भीषण गर्मी को लेकर आगाह किया गया है, ताकि वे सावधानी बरतें.

बता दें कि बिहार में गर्मी का प्रकोप दिन प्रतिदिन बढ़ रहा है. दक्षिण बिहार में गर्म और शुष्क हवाओं के प्रभाव के कारण लू की स्थिति बनी हुई है. खासकर दक्षिण-मध्य भाग में अगले 4 दिनों के लिए मौसम विज्ञान केंद्र की ओर से हीटवेव की चेतावनी जारी की गई है. मौसम विभाग का मानना है कि इस दौरान दोपहर में लगभग 40 से 42 डिग्री सेल्सियस तक तापमान पहुंच सकता है. इस दौरान पछुआ की रफ्तार भी बढ़ सकती है. पछुआ हवा का लगातार प्रवाह और बारिश न होने की स्थिति के कारण 9 अप्रैल के बाद तापमान 43 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने की संभावना जताई गई है.

मौसम विभाग की चेतावनी
मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि हवा और नमी के प्रभाव से मानव शरीर द्वारा महसूस किया गया तापमान दर्ज तापमान से अधिक होता है. इसलिए हीट स्ट्रोक और हीट स्ट्रेस की आशंका बन सकती है. मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि सीधे सूरज की किरणों से खुद को लोगों को बचाना होगा. लू न लगे इसके लिए खुद का हाइड्रेट रखना होगा. इसके लिए पानी और तरल पदार्थों का सेवन करते रहना जरूरी है.

पटना सबसे गर्म शहर
बुधवार को राज्य में सबसे गर्म राजधानी पटना रहा, जहां अधिकतम तापमान 42.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. शेखपुरा जिला दूसरे नम्बर पर रहा जहां तापमान 42.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया. शेखपुरा, बक्सर, पूर्वी चंपारण और बांका में हीटवेव की स्थिति बनी रही. मानको पर खरा न उतरने की स्थिति में पटना समेत 8 जिलों में भले ही हीटवेव घोषित नहीं किया गया, लेकिन हालात लगभग समान ही हैं.


आज का मौसम

मौसम विभाग ने पटना में गुरुवार को हीटवेव जैसी स्थिति बनने की आशंका जताई है. बुधवार की शाम गर्म हवाओं का प्रभाव देखा गया है. मौसम विज्ञान केंद्र की मानें तो बुधवार को उत्तर बिहार के कुछ जिलों में पछुआ हवा की वजह से अधिकतम तापमान बढ़ गया. गुरुवार से उत्तर बिहार में पूरी तरह पुरवा हवा का प्रभाव रहेगा और ऐसे में थोड़ी राहत मिलने की संभावना जताई गई है.

Leave a Reply