पूजा शकुन पांडे के खिलाफ अपर नगर मजिस्ट्रेट की ओर से नोटिस भी जारी किया गया है. उन्होंने इस नोटिस का जवाब देते हुए कहा कि अगर सच बोलने से किसी की भावनाएं आहत हुई हों तो उन्हें खेद है.

पर प्रतिबंध के मामले में हिन्दू महासभा की राष्ट्रीय सचिव डॉ पूजा शकुन पांडे के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. उनके खिलाफ अपर नगर मजिस्ट्रेट की ओर से नोटिस भी जारी किया गया है. उन्होंने इस नोटिस का जवाब देते हुए कहा कि अगर सच बोलने से किसी की भावनाएं आहत हुई हों तो उन्हें खेद है. पूजा के खिलाफ सांप्रदायिक बयान और विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देने का मामला दर्ज किया गया है.अलीगढ़ प्रशासन की मानें तो पांडे ने सोशल मीडिया पर विवादित बयान साझा किया है.
पूजा पांडे ने एक ज्ञापन के जरिए मांग की थी कि जुमे की नमाज पर लोगों के इकट्ठे होने पर प्रतिबंध लगाया जाए. उनका बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था, जिसके बाद उनके खिलाफ थाना गांधी पार्क में मामला दर्ज किया गया. उन्हें भेजे नोटिस में लिखा गया है कि आपके द्वारा ज्ञापन प्रस्तुत करने से पूर्व मीडिया के समक्ष जो बयान दिए गए हैं, उससे प्रथम दृष्टया धार्मिक उन्माद फैलाने का कुत्सित प्रयास किया गया है. आपके ही द्वारा सोशल मीडिया पर इस वीडियो क्लिप को अपलोड किया गया, जिसमें अनेकों व्यक्तियों की प्रतिक्रियाएं भी आई हैं.

जनपद में धारा 144 लागू है, जिसमें नियम विरुद्ध भीड़ इकट्ठा करने बिना अनुमति के कार्यक्रम करने एवं किसी भी धार्मिक समुदाय की भावनाओं को भड़काने वाली बयानबाजी करने से निषिद्ध किया गया है. इसके बावजूद भी आपके द्वारा न केवल मीडिया में आपत्तिजनक बयान दिए गए बल्कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इस वीडियो क्लिप को भी वायरल कर दिया गया, जिससे अलीगढ़ जैसे संवेदनशील शहर में शांति व्यवस्था भंग होने और विभिन्न समुदायों बीच विवाद होने और सांप्रदायिक सद्नभाव बिगड़ने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता.

Leave a Reply