daru

बिहार में शराबबंदी कानून के तहत अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए बड़ी कार्रवाई होगी। गुरुवार को पुलिस अफसरों के साथ बैठक में डीजीपी एसके सिंघल ने फील्ड अफसरों को इस दिशा में कार्रवाई के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा कि मद्यनिषेध कानून के कांडों में फरार अभियुक्तों की सूची बना लें। फरवरी में जितने अभियुक्तों की गिरफ्तारी हुई है उससे तीन गुनी अधिक अभियुक्तों को गिरफ्तार करने के लक्ष्य पर काम करें।

कॉल सेंटर का कॉल सीधे एएलटीएफ को जाएगा

डीजीपी ने शराब के धंधे के खिलाफ कार्रवाई के लिए मद्यनिषेध प्रभाग के अधीन बनाए गए कॉल सेंटर में आने वाले कॉल को सीधे एंटी लिकर टास्क फोर्स (एएलटीएफ) को भेजने का निर्देश दिया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि ऐसा करने के बाद एएलटीएफ तेजी से कार्रवाई करेगी। बैठक के दौरान उन्होंने होली के मद्देनजर शराब की बरामदगी के लिए विशेष अभियान चलाने का भी निर्देश दिया। वहीं एडीजी विधि-व्यवस्था संजय सिंह ने रात्रि गश्ती को चाक-चौबंद रखने के निर्देश दिए। 

शराब बिक्री के हॉट-स्पॉट चिन्हित होंगे

बैठक में आईजी मद्यनिषेध अमृत राज ने फील्ड के अफसरों को कई टास्क सौंपे। उन्होंने शराब बिक्री वाले हॉट स्पॉट को चिन्हित करने के साथ इसके लिए जिम्मेदार तत्वों की पहचान के करने का भी आदेश दिया। साथ ही शराब माफियाओं के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत प्रस्ताव भेजने को कहा। होली को देखते हुए उन्होंने 5 मार्च से शराब बरामदगी के लिए विशेष अभियान शुरू करने का आदेश दिया। बैठक में एडीजी पारस नाथ, संजय सिंह समेत कई वरीय पुलिस अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply