बिहार के छपरा से प्रेम विवाह का एक अनोखा मामला सामने आया है। लड़के और लड़की के परिवार में दहेज को लेकर अनबन हुई तो लड़के ने लड़की को मंदिर में ले जाकर शादी कर ली। शादी के बाद अब भी लड़के के परिवार वाले खफा हैं। लड़का उन्हें मनाने में जुटा है। उसका कहना है कि हम दोनों मिलकर परिवार वालों को मना लेंगे।

मंदिर में हुई शादी, गांव वाले बने बाराती
जैसे ही दूल्हे को पता चला की शादी में दहेज को लेकर लड़की वालों से विवाद हुआ है तो, वो अकेले ही लड़की के घर जा पहुंचा। लड़के ने जैसे ही लड़की के परिजनों के सामने शादी का प्रस्ताव रखा। लड़की पक्ष ने हामी भर दी। गांव के ही कुछ वरिष्ठ लोगों की मौजूदगी में दोनों ने मंदिर में शादी कर ली। दूल्हा रबिन्द्र कुमार गोपालगंज के मांझागढ़ का रहने वाला है, जबकि दुल्हन नेहा कुमारी सारण जिले के बनियापुर थाने के कन्हौली मनोहर की रहने वाली है।

नवंबर में होनी थी दोनों की शादी
बनियापुर के कंहौली मनोहर की लड़की नेहा कुमारी (23 वर्ष) की शादी गोपालगंज जिला के मांझागढ़ निवासी रविन्द्र कुमार (25 वर्ष) के साथ तय हुई थी। लड़का रविन्द्र कुमार दिल्ली में प्राइवेट कम्पनी में नौकरी करता है। शादी तय होने के बाद दहेज को लेकर लड़के के पिता नाराज हो गए। इसके बाद उन्होंने शादी से इनकार कर दिया। हालांकि शादी की बाकी सारी तैयारी हो चुकी थी। शादी नवंबर में तय हुई थी। लेकिन दहेज को लेकर लड़के के पिता तैयार नहीं हो रहे थे।

लड़के ने बताया कि शादी तय होने के बाद दोनों फोन पर बातें करने लगे थे। 6 महीने से बात करते-करते दोनों को एक दूसरे से प्यार हो गया। दहेज को लेकर शादी में रुकावट की बात सुनकर वो परेशान हो गया। और सीधे लड़की वालों के घर पहुंच गया। लड़की अभी मायके में ही रह रही है। दोनों मिलकर लड़के के परिवार को मनाने की कोशिश कर रहे हैं।

सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के यूट्यूब चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के टेलीग्राम चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के ट्विटर हैंडल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.

Leave a Reply