कोरोना के नये वेरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर बिहार में अलर्ट बढ़ा दी गयी है। इसे लेकर शिक्षा विभाग ने पटना के सभी प्राइवेट स्कूलों के लिए कई निर्देश जारी किए हैं। पटना के प्राइवेट स्कूलों को ONLINE क्लास जारी रखने का निर्देश दिया गया है। सभी निजी विद्यालयों में ऑनलाइन के जरीये पढ़ाई कराने और मुल्यांकन की व्यवस्था के विकल्प को लागू रखने की बात कही गयी है। संक्रमण के खतरे को देखते हुए बिहार शिक्षा परियोजना परिषद ने यह निर्देश जारी किया है।

बता दें कि पटना के कई प्राइवेट स्कूलों में अब जल्द ही एडमिशन की प्रक्रिया शुरू होने वाली है। इससे पहले शिक्षा विभाग ने कई निर्देश जारी किये हैं। इन निर्देशों का पालन करना अब प्राइवेट स्कूलों के संचालक के लिए अनिवार्य होगा। कोरोना वायरस के नये वेरिएंट ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए यह सतर्कता बरती जा रही है।

शिक्षण संस्थानों के संचालन में कोविड अनुकूलन व्यवहार संबंधी जारी मानक संचालन प्रक्रिया को यथावत लागू रखने का निर्देश शिक्षा विभाग ने जारी किया। वही ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए सभी छात्र-छात्राएं एवं विद्यालय के कर्मचारियों को मास्क लगाने और हैन्ड सैनिटाइज करने का निर्देश दिया गया।

OFFLINE शिक्षण व्यवस्था के तहत यह आवश्यक होगा कि स्कूल के कर्मी कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लिया हो। दोनों डोज लेने के बाद ही उन्हें स्कूल कैंपस में प्रवेश की अनुमति दी जाय। प्रतिदिन विद्यालय परिसर / वाहनों को सेनिटाइज भी किया जाए। स्कूल के छात्र-छात्राओं की तबीयत खराब होने की शिकायत पर उन्हें OFFLINE शिक्षण व्यवस्था से अलग रखने का निर्देश दिया गया। 

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बताया कि कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन को लेकर विभाग पूरी तरह सतर्क है। नए वैरिएंट को लेकर जरूरी निर्देश दिए गए हैं। ओमिक्रॉन को लेकर भारत सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देश के पालन को सुनश्चित करने को कहा गया है।

गौरतलब है कि कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर लोगों के बीच भय का माहौल है। भारत में तीसरी लहर की आशंका को लेकर अब लोग सतर्क होने लगे हैं। भारत में भी ओमिक्रॉन के दो मामले सामने आये हैं। कर्नाटक के संक्रमित मरीजों में ये लक्षण पाया गया है।

बता दें कि पिछले दस दिनों से दुबई से आए चार लोग पटना में ही रह रहे थे और इस दौरान कई लोगों के संपर्क में भी थे। दो लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव मिलने बाद स्वास्थ्य विभाग की नींद उड़ गयी है। आनन-फानन में ओमिक्रॉन की जांच के लिए सैंपल भेजा गया। पटना की सिविल सर्जन ने भी इस बात की पुष्टि की है। चारों लोगों के दुबई से पटना आए दस दिन हो गये हैं उनकी कांट्रैक्ट हिस्ट्री भी लंबी हो गयी है। जिसमें दो कोरोना से संक्रमित मिले है। उनकी रिपोर्ट भी कोरोना पॉजिटिव पाई गयी है। कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद ओमिक्रॉन की जांच के लिए सैंपल को भेजा गया है। ऐसे में यदि नए स्ट्रेन का पता चलता है तो स्थिति और भयावह हो सकती है। फिलहाल स्वास्थ्य विभाग की टीम इसकी जांच में जुट गई है।    

Leave a Reply