शेरघाटी थाना क्षेत्र के काजी मोहल्ला स्थित सोनार टोली में 23 अक्टूबर 2021 को मो. तैयब आलम नाम के एक शख्स की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इस कांड का अब खुलासा हो गया है. पुलिस की जांच और कार्रवाई के बाद यह मामला अब प्रेम-प्रसंग से जुड़ गया है. मृतक मो. तैयब की पत्नी ने खुद अपने पति की हत्या के लिए सुपारी दी थी. 2 लाख 80 हजार रुपये में सुपारी तय हुई. पत्नी के पास पैसे नहीं थे तो उसने अपने गहने को गिरवी रख दिया.

पुलिस ने पत्नी अफशां प्रवीण सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया है. गया एसएसपी आदित्य कुमार ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि सिटी एसपी के नेतृत्व में शेरघाटी एसडीओ, शेरघाटी थानाध्यक्ष, तकनीकी शाखा सहित कई थाने से पुलिस की एक टीम बनाई गई थी. जांच की गई तो पता चला कि पत्नी ने ही जीशान के माध्यम से मो. आरिफ को 2 लाख 80 हजार रुपये में सुपारी दी थी.

सपी ने बताया कि इस मामले में अर्मानुलाह खान उर्फ फोटो खान, पंकज पासवान, जीशान रहमान और अफशां प्रवीण को गिरफ्तार किया गया है. इसके पास से दो कट्टा और पांच जिंदा कारतूस बरामद किया गया है. गिरफ्तार अपराधियों पर जिले के आमस थाना, शेरघाटी थाना, गुरुआ थाना, महिला थाना के अलावा मध्यप्रदेश के लसुरिया थाना और झारखंड के हंटरगंज थाने में कई आपराधिक मामले दर्ज हैं. अर्मानुलाह खान पिछले छह वर्षों से फरार था.

अफशां प्रवीण और मृतक मो. तैयब आलम की लव मैरिज शादी हुई थी लेकिन अफशां प्रवीण का मो. तैयब आलम से पहले जीशान से प्रेम-प्रसंग था. उसने पहले प्रेमी को पाने के लिए अपने पति की हत्या करवा दी.

Leave a Reply