सोमवार को जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में गोपालगंज से आए एक युवक ने सीएम को बताया कि वर्ष 2013 से वे बिजली बिल का नियमित भुगतान करते आ रहे हैं। इसके बावजूद उन्हें 45 हजार का बिजली बिल भेजा गया है। जेई के द्वारा तंग भी किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने ऊर्जा विभाग के सचिव को फोन किया और कहा कि इसके जिम्मेदार कर्मियों पर कार्रवाई करें। 

शिकायतकर्ता की पूरी बात सुनकर मुख्यमंत्री ने कहा कि निश्चित रूप से फॉल्ट किया है। जब हर महीने उपभोक्ता बिजली बिल का भुगतान कर रहा है तो फिर अचानक बड़ी राशि का बिल कैसे आ गया? उन्होंने इस बात पर भी आश्चर्य व्यक्त किया कि बिना मीटर देखे इतने सालों तक बिल कैसे आते रहा। उन्होंने कहा कि लोक शिकायत निवारण कानून के तहत वर्ष 2016 में ही कइयों के बिजली बिल की समस्याओं का निष्पादन किया गया था। इस मामले पर हम पहले भी कई बार कह चुके हैं। 

Leave a Reply