बिहार के समस्तीपुर, मुजफ्फरपुर, सीवान और पटना में बीते दिनों शराब के कारण हुई मौतों के बाद उत्पाद और पुलिस विभाग ने शराबबंदी कानून को प्रभावी बनाने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है. जैसे ही शराब तस्करी की सूचना मिलती पुलिस हरकत में आ जाती है. इसी कड़ी में जिले के रानीगंज थाने की पुलिस को बुधवार की देर रात बड़ी सफलता मिली है. पुलिस ने जान की बाजी लगाकर रानीगंज-अररिया मार्ग पर लोचन चौक के समीप शराब लोड वाहन को पकड़ा है.

गुप्त सूचना पर हुई कार्रवाई

इस कार्रवाई के दौरान पुलिस और शराब लोड वाहन दुर्घटना ग्रस्त हो गए, जिसमें थानाध्यक्ष सहित चार पुलिस वाले जख्मी हो गए. जानकारी के अनुसार रानीगंज पुलिस को बीती रात शराब तस्करी की गुप्त सूचना मिली थी. ऐसे में थानाध्यक्ष कौशल कुमार, महिला प्रशिक्षु सिपाही, दो चौकीदार के साथ निशानदेही के आधार पर गाड़ी का पीछा करने लगे. इसकी भनक तस्कर को लग गई. ऐसे में वाहन चालक तेजी से शराब लोड गाड़ी को भगाने लगा. इधर, तेज रफ्तार में पुलिस की गाड़ी भी उनका पीछा कर रही थी.

इसी क्रम में जैसे ही लोचन चौक के समीप छोटी पुल के पास शराब लोड पिकअप गाड़ी पहुंची कि वाहन का एक्सल टूल गया और वाहन पर लदी शराब सड़क पर बिखर गई. इस हादसे के कारण पीछा कर रही तेज रफ्तार पुलिस गाड़ी के चालक ने नियंत्रण खो दिया और पुलिस गाड़ी भी दुर्घटना ग्रसत हो गई. हादसे में थानेदार सहित दो चौकीदार और एक महिला प्रशिक्षु सिपाही जख्मी हो गए. चौकीदार की स्थिती गंभीर बताई जाती है. घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया.

एसडीपीओ ने लिया जायजा

देर रात जैसे ही सदर एसडीपीओ पुष्कर कुमार को घटना की जानकारी मिली, वे घटना स्थल पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया. साथ ही घायलों के बेहतर उपचर की व्यवस्था कराई. 

एसडीपीओ ने बताया कि देर रात शराब की खेप लाने की गुप्ता सूचना मिली थी. अररिया से ऐंटी ड्रग्स स्क्वायड टीम और रानीगंज थाना पुलिस को अलर्ट करते हुए उसे पकड़ने का निर्देश दिया गया. हादसे के कारण तस्कर फरार हो गए. आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस अलग-अलग स्थानों पर छापेमारी कर रही है. शीघ्र आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा. कितने की शराब बरमद हुई है, इसका मिलान किया जा रहा है.

Leave a Reply