जमीन रजिस्ट्रेशन शुल्क जमा कराने के लिए भी परेशानी बढ़ी हुई थी। इसमें लोगों को घंटों एसबीआई में कतार लगाकर शुल्क जमा कराना पड़ता था। इसके बाद चालान रसीद के लिए भी उन्हें घंटों इंतजार करना पड़ता था। अब ये परेशानी दूर हो गई है। अब सीतामढ़ी केन्द्रीय सहकारी बैंक में भी ई-स्टांपिंग काउंटर शुरू किया गया है।

ई-स्टांपिंग काउंटर का शुभारंभ बैंक जिला सहकारिता पदाधिकारी सह प्रभारी एमडी सैयद मशरूक आलम ने किया। एमडी ने बताया कि सहकारी बैंक ने ये सुविधाएं देने के लिए स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के साथ समझौता किया गया है। अब सहकारिता विभाग ने सहकारी बैंकों में ई-रजिस्ट्रेशन, ई-स्टांप पेपर और ई-कोर्ट फीस क सुविधाएं भी देगा। मौके पर बैंक के पदाधिकारी सन्नी कुमार, धर्मेंद्र नुनिया, अविनाश कुमार आदि मौजूद थे।लाखों तक का ई-स्टांप लिया जा सकेगा

सहकारिता बैंक से अब जमीन की रजिस्ट्री के लिए 5 रुपए से लेकर लाखों तक का ई-स्टांप लिया जा सकेगा। जमीन रजिस्ट्री के दौरान दस, बीस, तीस हजार व लाखों तक के स्टांप पेपर की जरूरत होती है।

ज्यादा मूल्य के स्टांप पेपर के लिए कई प्रति में स्टांप पेपर लेने पड़ते थे, लेकिन अब ई-स्टांप पेपर किसी भी मूल्य के लिए एक ही लेना पड़ेगा। इससे जहां जमीन खरीद बिक्री करने वालों को सुविधा होगी वहीं बैंक को भी आर्थिक लाभ होगा। बताया जाता है कि जिले में प्रतिदिन विभिन्न रजिस्ट्री कार्यालय से एक करोड़ से अधिक रूपये स्टांप पेपर की बिक्री है। सहकारिता बैंक द्वारा काउंटर को कस्टमर फ्रेंडली बनाया गया है, जहां से बैंक द्वारा ई-सेवाएं दी जा रही है। अब ग्राहक इन काउंटर से सुविधा से ई-स्टांप ले सकेंगे।

Leave a Reply