साइबर अपराधी अब बिजली उपभोक्ताओं को अपना निशाना बनाने लगे हैं। इस महीने में काफी लोगों के पास साइबर अपराधियों के मैसेज आ रहे हैं। साइबर अपराधियों द्वारा उपभोक्ताओं को बिजली बिल बकाया होने के मैसेज के साथ एक मोबाइल नंबर और बिल जमा करने का लिंक भेजा जा रहा है। साथ ही यह भी चेतावनी दी जा रही है कि बिजली बिल एक सीमित अवधि तक जमा नहीं करने पर कनेक्शन काट दिया जाएगा।

मैसेज में दिए गए नंबर पर कॉल करने पर फोन काट दिया जाता है और फिर एक मैसेज भेजा जाता है कि आप दिए गए लिंक से पैसे जमा कीजिए। लिंक के जरिए उपभोक्ताओं से ओटीपी भी लिया जाता है, जिसके बाद उनके बैंक अकाउंट से अपराधियों द्वारा पैसा निकाल लिया जाता है। जानकारी के अनुसार साइबर अपराधी लोगों को बिल जमा करने के लिए व्यूअर एप या एनी डेस्क एप डाउनलोड करा कर अपने खाते में दस रुपये भेजने को कहते हैं। 

उपभोक्ता द्वारा बताए गए ऐप के माध्यम से रकम ट्रांसफर कर देने पर अपराधी उनके खाते को अपने नियंत्रण में कर मनचाही रकम अपने खाते में स्थानांतरित कर लेते हैं। बिजली कंपनी ने उपभोक्ताओं को ऐसे फ्रॉड मैसेज करने वाले लोगों से सावधान रहने की सलाह दी है। कहा कि वे ऐसे मैसेज से सतर्क रहें। साथ ही ऐसी किसी भी जानकारी के लिए स्थानीय बिजली विभाग के कार्यालय से तुरंत संपर्क करें।

बिहार स्टेट पॉवर होल्डिंग कंपनी लिमिटेड के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक संजीव हंस ने कहा कि बिजली कंपनी रात में या छुट्टी के दिन बकाया बिल वाले उपभोक्ताओं की बिजली नहीं काटती है। बिजली काटने से पहले कंपनी की ओर से मैसेज के माध्यम से उपभोक्ता को सतर्क किया जाता है। कंपनी द्वारा भेजे जाने वाले मैसेज में बिजली कंपनी का नाम, बिल जमा करने के ऐप और उपभोक्ता की आईडी व बकाया राशि, बिल जमा करने की अंतिम तिथि तथा ऑनलाइन पेमेंट जमा करने पर दी जाने वाली छूट की जानकारी रहती है।

सीएमडी ने कहा कि उपभोक्ता साइबर अपराधियों द्वारा भेजे गए अंजान लिंक के माध्यम से पेमेंट करने से बचें। उन्हें बिजली विभाग की एनबीपीडीसीएल और एसबीपीडीसीएल साइट पर जाकर भुगतान करना चाहिए। इस मामले की जानकारी बिजली कंपनी ने ईओयू के एडीजी नैय्यर हसनैन खान को भी दी है।

सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के यूट्यूब चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के टेलीग्राम चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.
सीतामढ़ी लाइव न्यूज़ के ट्विटर हैंडल से जुड़ने के लिए क्लिक करें.

Leave a Reply