शराब बनाने से लेकर इसे आपूर्ति करने तक के लिए एक पाइप लाइन तक बना दी गई थी. इसी के माध्यम से अवैध तरीके से शराब बनाने और उसे  बांटने का काम चल रहा था लेकिन पटना पुलिस को किसी तरह इसकी भनक लग गई. पुलिस ने मिली सूचना के आधार पर इस मामले में कार्रवाई कर दी पुलिस ने मौके पर अवैध रूप से बनाए गए शराब के अड्डे पर छापेमारी की बल्कि वहां से बड़े पैमाने पर बनाए गए नकली शराब शराब बनाने का रॉ मटेरियल के अलावा कई दूसरे सामानों को जप्त कर लिया.

पुलिस ने वहां से धंधे से जुड़े कई लोगों को पकड़ लिया है और हिरासत में लिए गए लोगों से सख्ती से पूछताछ की जा रही है. शराब बनाने और उसे बेचने का मामला राजधानी के पत्रकार नगर इलाके का है. दरअसल शनिवार को पटना के एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो को इसकी जानकारी मिली थी. इसके बाद पुलिस ने इतनी बड़ी कार्रवाई की है. पटना पुलिस के अधिकारी फिलहाल पूरे मामले का खुलासा नहीं कर रहे हैं.

एसएसपी की मानें तो किसी ब्रांडेड कंपनी के नाम पर नकली शराब बनाने का काम किया जा रहा था. जिन लोगों को पुलिस ने अपनी हिरासत में लिया है उनसे पूछताछ करने के बाद बहुत सारी बातें निकल कर सामने आई हैं. कई लोगों की पहचान का पुलिस ने पता लगाया है. उनकी निशानदेही पर ही पटना के कई जगहों पर छापेमारी शनिवार की देर रात तक चल रही थी. शराब बनाने के लिए स्पिरिट की सप्लाई कहां से हुई थी, बोतल कहां से ढूंढ कर लाए गए थे, और कितने और कहां से रैपर छपवा गए थे इसके अलावा शराब की पैकिंग कैसे की जा रही थी इन सारी बातों तफ्तीश करने में पटना पुलिस जुटी हुई है.

Leave a Reply