IPL 2022 का 11वाँ मैच पंजाब किंग्स और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच मुंबई के ब्रेबोर्न स्टेडियम में खेला गया. इस मैच में चेन्नई के कप्तान रविंद्र जडेजा ने टॉस जीत कर पहले गेंदबाज़ी का फ़ैसला किया. जिसके बाद पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी पंजाब की टीम ने 20 ओवरों में 8 विकेट के नुकसान पर 180 रन का स्कोर खड़ा किया.

जिसके जवाब में बल्लेबाज़ी करने उतरी चेन्नई की टीम 18 ओवरों में महज़ 126 रनों पर सिमट गई और उसे 54 रनों की हार का सामना करना पड़ा. इसी सिलसिले में इस आर्टिकल में हम विस्तार से चर्चा करेंगे पूरे मैच की रिपोर्ट के बारे में और उन कारणों के बारे में भी जिनके चलते चेन्नई की टीम लगातार तीसरी हार का सामना करना पड़ा.

पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी पंजाब की टीम के लिए कप्तान मयंक अग्रवाल और शिखर धवन पारी की शुरुआत करने उतरे. हालांकि पंजाब की शुरुआत ज़्यादा अच्छी नहीं रही और उसके शुरुआती 2 विकेट मात्र 14 रन के स्कोर पर गिर गए. लेकिन इसके बाद शिखर धवन और लियाम लिविंगस्टन के बीच तीसरे विकेट के लिए हुई 95 रनों की साझेदारी ने पंजाब को मजबूत स्थिति में लाकर खड़ा कर दिया.

लिविंगस्टन की 60 रनों की और धवन की 33 रनों की पारी के अलावा जितेश शर्मा के 26 रनों के दम पर पंजाब की टीम ने 20 ओवर में 8 विकेट खोकर 180 रन बनाए. चेन्नई की तरफ़ से गेंदबाज़ी में क्रिस जॉर्डन और ड्वेन प्रिटोरियस ने 2-2 विकेट चटकाए तो वहीं मुकेश चौधरी, रविंद्र जडेजा और ड्वेन ब्रावो को 1-1 विकेट मिला.

दूसरी पारी में बुरी तरह बिखरी चेन्नई की बल्लेबाज़ी

इसके बाद दूसरी पारी में बल्लेबाज़ी करने उतरी चेन्नई की शुरुआत बेहद ही खराब रही और उसकी आधी टीम 36 रनों के स्कोर तक ही पैविलियन लौट चुकी थी. पूरी पारी के दौरान बीच में युवा ऑलराउंडर शिवम दुबे ज़रूर कुछ संघर्ष करते नज़र आए और 30 गेंदों में 57 रनों की पारी खेली. लेकिन 181 रनों के लक्ष्य का पीछा करने के लिए इतना काफ़ी नहीं था.

इस मैच में पूर्व कप्तान और विकेटकीपर-बल्लेबाज़ एमएस धोनी भी काफ़ी धीमे खेलते हुए नज़र आए और 28 गेंदों में सिर्फ़ 23 रन बनाए और पूरी टीम 18 ओवरों में 126 रन के स्कोर पर सिमट गई. पंजाब की तरफ़ से गेंदबाज़ों की बात करें तो राहुल चाहर ने शानदार गेंदबाज़ी करते हुए 3 विकेट चटकाए तो वहीं वैभव अरोड़ा और लियाम लिविंगस्टन ने भी 2-2 विकेट अपने नाम किए. इसके अलावा अर्शदीप सिंह, ओडियन स्मिथ और कगिसो रबाड़ा को 1-1 विकेट मिला.

इस मैच में मिली लगातार तीसरी हार के बाद अब चेन्नई सुपर किंग्स और कप्तान रविंद्र जडेजा की कप्तानी पर गहरा सवालिया निशान लगने लगा है. गौरतलब है कि गत विजेता टीम का ये हाल उसके फ़ैंस को बिल्कुल भी पसंद नहीं आ रहा होगा.
इसलिए अब चेन्नई के लिए अगले कुछ मैचों में लगातार जीत दर्ज करने का दबाव बढ़ गया है. जिसके बाद अब देखना ये होगा कि क्या चेन्नई की टीम वापस पटरी पर लौटती है या इस बार भी उसका हाल आईपीएल 2020 की तरह होगा जहाँ वो लीग राउंड से ही बाहर हो गई थी.

Leave a Reply