दुनिया में कई तरह के रिकार्ड्स बनाए जाते हैं. कई संस्थान हैं जो सबूतों के आधार पर इन रिकार्ड्स को मान्यता देते हैं. इनमें दुनिया के सबसे बुजुर्ग सदस्यों (Oldest Person In World) का भी एक कॉलम होता है. इस रिकॉर्ड में नाम दर्ज करवाने के लिए शख्स के पास जन्म प्रमाण पत्र होना जरुरी होता है. सोशल मीडिया पर इन दिनों एक बेहद बुजुर्ग महिला की तस्वीर वायरल हो रही है. इस महिला की आंखें अंदर की तरफ धंसी हुई है और बॉडी की स्किन पूरी तरह से सूखी हुई. दावा किया जा रहा है कि ये दुनिया की सबसे बुजुर्ग महिला है जिसकी उम्र 399 साल है. जी हां, सही पढ़ा आपने. इसकी उम्र 399 साल (Woman Of 399 Years) बताई जा रही है.

बात पर यकीन करने में काफी समय लगेगा लेकिन वाकई इन तस्वीरों के आधार पर उसकी उम्र 399 ही बताई जा रही है. यानी ये महिला बीते चार शताब्दी से जिंदा है. इस बात पर लोग हैरानी जता ही रहे थे कि अचानक इन्हीं तस्वीरों के साथ एक और खबर सामने आई. इसमें कहा गया कि ये तस्वीरें एक बौद्ध भिक्षु की है जो खुद को ममी में बदल रहा है. जब तस्वीरों की जाँच की गई तो पता चला कि दोनों एक ही इंसान की तस्वीरें हैं. ऐसे में ये कन्फर्म हो गया कि दोनों ही न्यूज फेक है.

ये रही असलियत
शख्स की तस्वीरें असल में टिकटोक पर @auyary13 नाम के यूजर ने शेयर की. पता चला कि ये उस शख्स की पोती हैं. शख्स का असली नाम लुआंग फ़ो आई है जो कि एक बुद्धिस्ट मोंक है. इनकी असली उम्र ना तो 163 है ना ही 399. इनकी असली उम्र 109 साल है. ये थाईलैंड में रहते हैं और इस समय अस्पताल में ही अपना ज्यादा समय बिताते हैं. इस उम्र में भी वो अपने ज्यादातर काम खुद कर लेते हैं. इस समय दुनिया की सबसे बुजुर्ग इंसान का खिताब जापान की काने तनाका के नाम है जो 119 साल की है. इनका जन्म 2 जनवरी 1903 में हुआ था.

Leave a Reply