मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज सोमवार को जनता के दरबार कार्यक्रम में फरियादियों की शिकायत सुनी. इस दौरान कई ऐसे मामले सामने आये जिसे सुनकर सीएम भी चौंक गये. वैशाली की एक महिला की शिकायत पर मुख्यमंत्री ने डीजीपी को फोन लगाया और मामले को देखने कहा. वहीं एक महिला दुष्कर्म की शिकायत लेकर सीएम के पास गयी.

जनता दरबार में शिकायत लेकर आई एक महिला फरियादी ने सीएम को बताया कि उसके पति पंजाब में रहते हैं. उन्होंने गेहूं का पटवन कराने कहा. जिसके बाद वो पटवन करने वाले के यहां गई. यहां पहुंचने के बाद पटवन करने वाले के बेटे ने उसे गेट पर खड़ा रहने को कहा और बाद में अंदर खींच लिया. फरियादी ने बताया कि उसके साथ वहां पर दुष्कर्म किया गया.

महिला ने बताया कि पटवन करने वाले के बेटे ने उसके साथ बलात्कार किया और उसका वीडियो भी बना लिया. वो किसी तरह अपने घर पहुंची. लेकिन उसके बाद भी उसे सताने का सिलसिला जारी रहा. लड़का उसे धमकी देने लगा.

महिला ने बताया कि वीडियो वायरल करने की भी लगातार धमकी दी जाती रही. बताया कि वो इसकी शिकायत लेकर पुलिस के पास भी गई लेकिन उसकी एक नहीं सुनी गई. महिला की फरियाद को सीएम नीतीश कुमार ने संबंधित अधिकारी को निर्देश दिया कि इस मामले को फौरन देखे और कार्रवाई करे.

वहीं जनता दरबार में सीएम के पास कइ और फरियाद आये. जिसमें कार्रवाई का निर्देश सीएम ने दिया. उधर जनता दरबार में फरियाद सुनने के बाद सीएम ने मीडिया से भी बात की. उन्होंने इस दौरान जातिगत जनगणना और शराबबंदी को लेकर अहम बातें कही. वहीं कोरोना संक्रमण के नये वेरिएंट को लेकर सरकार की तैयारी भी बताई.

Leave a Reply