Bihar News: बिहार के गया जिले में नक्सली संगठन भाकपा माओवादी ने डुमरिया में एक ही परिवार की दो महिलाओं सहित चार की हत्या कर एक बार फिर अपनी उपस्थिति कायम कर दी है. पंचायत चुनाव के पहले चार लोगों की हत्या से पूरा प्रखंड क्षेत्र दहशत में है. हत्या करने के बाद नक्सलियों द्वारा छोड़े गये पर्चे में लिखा गया है कि उन्होंने अपने चार साथियों की हत्या का बदला फांसी देकर लिया है. नक्सलियों ने जाते-जाते सरयू सिंह भोक्त के घर में आग लगा दी. मृतक की मां सुकवरिया देवी बताती हैं कि शनिवार की रात हथियार से लैस नक्सली आये व उनके पति सरयू सिंह को खोज रहे थे.

नहीं मिलने पर उनके दो बेटों व दो बहुओं की हत्या कर दी. जाते-जाते घर छोड़ने की धमकी भी दी. साथ ही खेती करने के लिए प्रतिबंध भी लगा दिया है. सुकवरिया देवी बताती हैं कि छह माह पूर्व चार नक्सलियों को पुलिस ने मार गिराया था. नक्सलियों का मानना है कि उन लोगों के द्वारा ही उनके चारों साथियों की हत्या करायी गयी है और उसी का बदला लिया है. सुकवरिया देवी ने बताया कि नक्सलियों ने पूरे परिवार को घर छोड़ने को कहा है. साथ ही कहा है कि गांव नहीं छोड़ने पर इन चारों की तरह अंजाम भुगताने हों

तीन बच्चों व पूरे सामान के साथ घर छोड़ कर जा रही पिंटू देवी, पति सुरेंद्र सिंह व बबीता देवी पति वीरेंद्र सिंह ने बताया कि नक्सलियों की धमकी के डर से घर छोड़ कर पलायन कर रही हैं. इन लोगों ने बताया कि रात को घटना के अंजाम देने के बाद कहा कि पूरा परिवार घर छोड़ दे, अन्यथा इन लोगों की तरह अंजाम भुगतना होगा. महिलाओं ने बताया कि अभी पास के स्कूल में या सामुदायिक भवन में रहेंगे. इसके बाद अपने किसी परिवार के यहां शरण लेंगे. आखिर यहां कुछ बचा ही नहीं, जमीन पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है.

अपने माता-पिता व चाचा चाची को फांसी से लटकते देख अचेत हुए बच्चे

मृतक महेंद्र सिंह भोक्ता के 10 वर्षीय पुत्र प्रिंस व मृतक सत्येंद्र सिंह भोक्ता के 10 वर्षीय पुत्र रवि, 12 वर्षीय पुत्र आनंद, चौदह वर्षीय पुत्र रामजीत व 16 वर्षीय मैट्रिक पास पुत्री शोभा कुमारी अपने माता-पिता व चाचा-चाची को शव देखते ही दहाड़ मार कर रोने लगे. शोभा कुमारी कई बार अचेत भी हो गयी. गांववाले एवं सगे संबंधी होश में लाते दिखाई दिये. इतनी बड़ी घटना कभी जीवन में होगी, ये मासूम बच्चे कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा. प्रिंस के आंखों में आंसू की धरा थमने का नाम नहीं ले रही थी

Leave a Reply