बिहार विधान मंडल का शीतकालीन सत्र (Bihar Assembly Winter Session) आज यानी सोमवार से शुरू हो रहा है. पांच दिन तक चलने वाले विधानमंडल के इस सत्र के हंगामेदार होने की पूरी संभावना है. विपक्ष ने सरकार को कई मोर्चों पर खास कर जहरीली शराब (Bihar Hooch Tragedy) से राज्य के चार जिलों में 50 से ज्यादा लोगों की हुई मौत पर घेरने की रणनीति बनाई है. शराबबंदी (Liquor Ban) के सिलसिले में पुलिस द्वारा शादी-विवाह समारोह में की जा रही छापेमारी की कार्रवाई से भी विपक्ष नाराज है. इसके अलावा, विपक्ष सरकार से ज्वलंत मुद्दों पर सत्र की अवधि बढ़ाने और चर्चा की मांग रखेगा. इसमें सरकार की ओर से दोनों सदन में पहले ही दिन 29 नवंबर को अनुपूरक बजट 2021-22 बिहार तकनीकी सेवा अध्यादेश 2021 के पटल पर रखा जाएगा.

साथ ही अन्य जरूरी सियासी कार्य पर सदन से मंजूरी लेने की भी सरकार ने तैयारी कर रखी है. आखिर में वीआईपी के विधायक मुसाफिर पासवान के निधन पर शोक प्रकाश को विधानमंडल में रखा जाएगा. 30 नवंबर से एक दिसंबर के बीच राजकीय विधायक और अन्य राजकीय कार्य होंगे. जबकि दो दिसंबर को वित्तीय वर्ष 2021 के द्वितीय अनुपूरक व्यय विभाग में बहस के बाद मतदान की प्रक्रिया होगी. इसके बाद विनियोग विधेयक पर भी मतदान कराए जाने के साथ तीन दिसंबर को गैर-सरकारी संकल्पों को सदन की कार्यवाही में शामिल किया गया

वहीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में सोमवार को दोपहर साढ़े बारह बजे एनडीए विधानमंडल दल की बैठक होनी है. विधानसभा के सेंट्रल हॉल में होने वाली इस बैठक में बीजेपी, जेडीयू, हम, वीआईपी के सभी विधायक और विधान पार्षद शामिल होंगे. सरकार सदन चलाने को लेकर विधायकों के साथ और विधान पार्षदों के साथ रणनीति तैयार करेगी.

उधर, राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) विधान मंडल की बैठक भी सोमवार की शाम चार बजे पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर बुलाई गई है. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की अध्यक्षता में यह बैठक होगी. वहीं, कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजित शर्मा के आवास पर सोमवार की शाम पार्टी की बैठक बुलाई गई है. इस बैठक में कांग्रेस के नेता जहरीली शराब से हुई मौतों और बिना महिला पुलिस के दुल्हन के कमरे में पुलिसकर्मियों के प्रवेश को मुद्दा बनाने पर विचार करेगी.

Leave a Reply