बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बीएसईबी) के द्वारा पूर्वी चंपारण जिले के मोतिहारी (Motihari) में बीते 17 फरवरी को पहली पाली में आयोजित हुई गणित की परीक्षा रद्द (Maths Exam Cancel) कर दी गई है. बीएसईबी (BSEB) ने पुनर्परीक्षा (Re-Examination) की घोषणा कर दी है. बीएसईबी के अध्यक्ष आनंद किशोर ने मंगलवार को इसकी जानकारी देते हुए कहा कि पूर्वी चंपारण (East Champaran) के जिलाधिकारी (डीएम) शीर्षत कपिल अशोक की रिपोर्ट के बाद बोर्ड ने मोतिहारी अनुमंडल के 25 केंद्रों पर पहली पाली की परीक्षा रद्द करने का फैसला लिया गया है. रद्द किए गए इन सभी 25 केंद्रों पर 24 मार्च को पुनर्परीक्षा (Maths Paper Re-Examination) आयोजित की जाएगी. परीक्षा प्रथम पाली में सुबह 9.30 से दोपहर 12.45 तक आयोजित की जाएगी.

अध्यक्ष ने स्पष्ट रूप से कहा कि वैसे छात्र जो इस पुनर्परीक्षा में शामिल नहीं होंगे उनको अनुपस्थित मानते हुए अनुतीर्ण (फेल) घोषित कर दिया जाएगा, और इसके लिए परीक्षार्थी और उनके अभिभावक जिम्मेवार होंगे.

बता दें कि 17 फरवरी को मैट्रिक की परीक्षा शुरू होने के कुछ देर पहले व्हाट्सएप समेत अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर गणित का पेपर वायरल होने की खबर आई थी. परीक्षा शुरू होने के पहले ही अधिकांश परीक्षार्थियों और अभिभावकों के मोबाइल तक यह वायरल प्रश्नपत्र पहुंच गया था. यह वायरल प्रश्नपत्र जे सीरीज का बताया जा रहा था. इसको लेकर उड़े अफवाह के फौरन बाद जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया था.

इसके बाद, डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने तुरंत यह पता करने की कोशिश की थी कि वायरल हो रहा पेपर मैथमेटिक्स एग्जाम का है या नहीं. लेकिन, परीक्षा होने तक इसकी पुष्टि नहीं हो सकी थी. पूर्वी चंपारण के डीएम ने प्रश्नपत्र के सत्यता की जांच कराने का फैसला लिया था और उन्होंने पूरे तथ्य की जांच के लिए टीम गठित की थी. परीक्षा नियंत्रक, एडीएम और सदर एसडीओ को इस मामले की जांच का जिम्मा दिया गया था. यह माना जा रहा है कि डीएम ने वायरल हुए प्रश्नपत्र को सही पाते हुए बीएसईबी को जांच रिपोर्ट भेजी थी जिसके बाद ही बोर्ड द्वारा परीक्षा रद्द करने का फैसला लिया गया है.

Leave a Reply