बिहार में होने वाले नगरपालिका चुनाव में इस बार मेयर पद के प्रत्याशी वोटरों के पास हारमोनियम लेकर जाएंगे तो किसी उम्मीदवार के हाथों में जलता हुआ दीया होगा। चुनावी मैदान में शंख बजाने वाले भी दिखेंगे.. तो कोई वोटरों को मुर्गा दिखाकर रिझाएगा।

दिलचस्प यह है कि इस बार के नगरपालिका चुनाव में गैस का चूल्हा तो पार्षद पद के प्रत्याशियों के पास रहेगा लेकिन गैस का सिलेंडर मुख्य पार्षद के पद के प्रत्याशियों के पास। दरअसल, नगरपालिका चुनाव के मद्देनजर राज्य निर्वाचन आयोग ने पहली बार मेयर और डिप्टी मेयर के पद पर चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों के लिए सिंबल निर्धारित कर दिया है।

बिहार में पहली बार नगरपालिका के चुनाव में मुख्य और उप मुख्य पार्षद के पदों का चुनाव सीधे मतदान से होगा। मुख्य पार्षद के पद के प्रत्याशियों के लिए 32 चुनाव चिह्न निर्धारित किए गए हैं। वहीं उप मुख्य पार्षद के लिए 21 और पार्षद के पद के लिए 36 चुनाव चिह्न निर्धारित किए गए हैं।

इसके अलावा 25 चुनाव चिह्न रिजर्व रखे गए हैं। रिजर्व चुनाव चिह्नों का प्रयोग तब किया जाएगा जब चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों की संख्या अधिक हो जाएगी। चुनाव चिह्नों के आवंटन के लिए आयोग ने सॉफ्टवेयर विकसित किया है।

Input : Dainik Bhaskar

Leave a Reply