पटना. दानापुर थाने के नासरीगंज स्थित आवास के गेट पर सोमवार की रात करीब 10 बजे अपराधियों ने जदयू के प्रदेश सचिव सह दानापुर नगर पर्षद के उपाध्यक्ष दीपक मेहता की गोली मार कर हत्या कर दी. अपराधियों ने दीपक मेहता को ताबड़तोड़ 10 गोलियां मारीं और बाइक से फरार हो गये. उन्हें पारस हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया.

पटना-दानापुर मार्ग पर आगजनी

घटना से गुस्साये लोगों ने नासरीगंज के पास पटना-दानापुर मार्ग पर आगजनी कर सड़क को जाम कर हंगामा किया. इस दौरान नासरीगंज चौकी में तोड़-फोड़ की और वाहनों को भी नुकसान पहुंचाया. उनके आवास के पास सड़क पर काफी देर तक हंगामा होता रहा.

घटनास्थल से पांच खोखे बरामद

घटना की जानकारी मिलने पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल से पांच खोखे बरामद किये. गोली मारने वाले अपराधियों की उम्र 17-18 वर्ष के आसपास थी. फिलहाल पुलिस घटना के कारणों की तलाश के लिए राजनीतिक प्रतिद्वंदिता, आपसी दुश्मनी और जमीन विवाद के बिंदु पर जांच कर रही है.

बालू लदे हाइवा को अंदर कराने के वक्त हुई घटना

जानकारी के अनुसार, दीपक मेहता रात करीब 10 बजे खाना खाने के बाद अपने कैंपस में टहल रहे थे. इसी बीच हाइवा से बालू लेकर लोग पहुंचे. इसके बाद वह पुराने गेट से बालू को अंदर करवाने में लग गये. गेट को खोल दिया गया और हाइवा अभी अंदर ही जा रहा था कि दो बाइक पर सवार पांच अपराधी उनके करीब पहुंचे. इनमें से दो अपराधी उनके करीब पहुंचे और ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी. इसके कारण वहां मौजूद लोग भागने लगे.

छाती व सिर में गोली लगी

दीपक मेहता की छाती व सिर में गोली लगी और वह खून से लथपथ होकर गिर पड़े. अपराधी हाथ में पिस्टल लहराते हुए दीघा के रामजीचक की ओर निकल गये. गोली की आवाज सुन कर बड़ी संख्या में लोग जुट गये और फिर उन्हें पारस हॉस्पीटल लाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया.

Leave a Reply