adhar card

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआइडीएआइ) ने लोगों को आफलाइन आधार सत्यापन की सुविधा दी है। इसके तहत कोई भी व्यक्ति यूआइडीएआइ द्वारा डिजिटल रूप से हस्ताक्षरित दस्तावेज साझा करके अपने आधार का सत्यापन आफलाइन करा सकता है। इस दस्तावेज में धारक को सौंपी गई आधार संख्या के केवल अंतिम चार अंक होंगे।

आधार (प्रमाणीकरण और आफलाइन सत्यापन) रेगुलेशन, 2021 को आठ नवंबर को अधिसूचित किया गया और इसे मंगलवार को आधिकारिक वेबसाइट पर प्रकाशित किया गया। इसमें ई-केवाईसी (अपने ग्राहक को जानो) प्रक्रिया के लिए आधार के आफलाइन सत्यापन को सक्षम बनाने की कोशिश की गई है।

यूआइडीएआइ के अनुसार अब आनलाइन सत्यापन पर मौजूदा तंत्र के अलावा क्यूआर कोड सत्यापन, आधार कागज-रहित आफलाइन ई-केवाईसी सत्यापन, ई-आधार सत्यापन, आफलाइन कागज-आधारित सत्यापन और समय-समय पर प्राधिकरण द्वारा शुरू किए गए किसी भी अन्य प्रकार के आफलाइन सत्यापन जैसी सुविधाएं मिलेंगी। वन-टाइम पासवर्ड यानी ओटीपी और बायोमीट्रिक सत्यापन सुविधाएं पहले की तरह चलती रहेंगी।

देश में सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेज माना जाने वाले आधार में भारतीय विशिष्ठ पहचान प्राधिकरण (यूआइडीएआई) द्वारा जारी 12 अंकों का विशिष्ट पहचान संख्या अब महत्वपूर्ण दस्तावेज बन गई है। आधार कार्ड अब वह दस्तावेज बन गया है, जिसके बिना किसी भी सरकारी योजना का लाभ नहीं लिया जा सकता है।

इसके खो जाने पर कई तरह की नई परेशानियां आ सकती है। इसी को ध्यान में रखकर UIDAI ने देश के 122 शहरों में 166 नए केंद्र खोलने का एलान किया है जहां लोग नया आधार कार्ड बनवा सकेंगे, साथ ही अपने पुराने आधार कार्ड को अपडेट भी करा सकेंगे। इसके लिए एडवोस बुकिंग की भी सुविधा है। है। जिसके बाद अब अपना आधार कार्ड बनाना और अपडेट करना पहले से कहीं ज्यादा आसान हो जाएगा

Leave a Reply