बिहार में शराबबंदी को सफल बनाने के लिए नीतीश सरकार ने कॉल सेंटर से लेकर पता नहीं कितने इंतजाम किए लेकिन इसके बावजूद शराब की बिक्री होती रही। पीने वाले पीते रहे और घर-घर होम डिलीवरी का सिस्टम डिवेलप हो गया। लेकिन अब जब नीतीश कुमार ने एक बार फिर शराबबंदी को सफल बनाने का जिम्मा वरिष्ठ आईएएस अधिकारी केके पाठक के कंधे पर दिया तो उन्होंने एक बड़ी पहल कर डाली है। मद्य निषेध विभाग के प्रधान सचिव केके पाठक ने शराब से जुड़ी शिकायतों के लिए अपना ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर जारी किया है।

इस नम्बर पर वाट्सएप से शिकायत

मद्यनिषेध विभाग के प्रधान सचिव केके पाठक खुद पहल करते हुए अपना सरकारी व्हाट्सएप नंबर जारी किया है। व्हाट्सएप नंबर 9473400600 पर कोई भी व्यक्ति शराब के बारे में सूचना दे सकता है। यह सूचना सीधे आईएएस अधिकारी केके पाठक के पास जाएगी। साथ ही सूचना देने वालों की पहचान भी गुप्त रखी जाएगी। शराबबंदी को सफल बनाने के लिए केके पाठक ने यह बड़ी पहल की है केके पाठक चाहते हैं कि सिस्टम की कमियों का खामियाजा शराब को लेकर सूचना देने वाले लोगों को न झेलना पड़े यही वजह है कि उन्होंने अपना व्हाट्सएप नंबर ही पब्लिक कर दिया।

बढ़ेगी अधिकारियों की तादाद

इतना ही नहीं मध निषेध विभाग में अधिकारियों की कमी को देखते हुए। अब विभाग की तरफ से जल्द ही पुलिस विभाग से नए अधिकारी प्रतिनियुक्ति कर लाए जाएंगे। सरकार से विभाग जल्द ही इसकी मांग करने वाला है। पुलिस विभाग से विभाग तीन उपाधीक्षक 111 निरीक्षक और 104 अवर निरीक्षक के साथ-साथ 244 आरक्षी बल की प्रतिनियुक्ति चाहता है।और इसके लिए जल्द ही अधियाचन आ भेजी जाएगी। विभाग की तरफ से शराबबंदी को सफल बनाने के लिए हर जिले में डाटा एंट्री ऑपरेटर की भी तैनाती की जा रही है।

Leave a Reply