जमुई. पंचायत चुनाव के आठवें चरण में जमुई जिले के खैरा प्रखंड के 22 पंचायत में मतदान 24 नवंबर को संपन्न हुआ था. मतगणना 26 नवंबर को हुआ, लेकिन मतगणना के बाद लोगों को हैरान और आश्चर्य कर देने वाला परिणाम देखने को मिला. जिस शख्स की मौत हो चुकी है, उसकी जीत हो गई. पंच के पद पर मृत व्यक्ति की जीत की खबर पूरे जिले चर्चा का विषय बन गया है.

दरअसल जमुई जिले के खैरा प्रखंड के हरखार पंचायत चुनाव का परिणाम आने के बाद एक ऐसे प्रत्याशी की जीत हुई, जिसकी मौत 6 नवंबर को हो चुकी थी. दीपाकरहर गांव के वार्ड संख्या-2 में पंच उम्मीदवार सोहन मुर्मू की मौत लंबी बीमारी के कारण हो गई.

जानकारी के अनुसार हरखार पंचायत के वार्ड संख्या-2 से पंच के उम्मीदवार के रूप में दो प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे. एक सोहन मुर्मू और दूसरा मुरा हेंब्रम. सोहन मुर्मू की बीमारी से मौत हो गई. लेकिन यह जानकारी अधिकारियों को नहीं दी गई. लिहाजा पंचायत चुनाव में बैलेट पेपर में सोहन मुर्मू का नाम और चुनाव चिन्ह छपा रह गया. मतदान के दिन लोगों ने सहानुभूति में उसे वोट भी दे दिया. परिणाम आने पर मृतक सोहन मुर्मू को जीत भी मिल गई.

गांव के चंद्रिका रविदास ने बताया कि सोहन मुर्मू की मौत नवंबर के पहले सप्ताह में ही हो गई थी और मतदान 24 नवंबर को हुआ. मृतक अपना चुनाव चिन्ह भी नहीं ले सका था और प्रचार भी नहीं किया था, लेकिन वह चुनाव जीत गया.

इस मामले में खैरा प्रखंड के बीडीओ राघवेंद्र त्रिपाठी ने बताया कि उन्हें इस बात की जानकारी मिली है कि कोई मृत शख्स चुनाव जीत गया है. प्रत्याशी की मौत के बारे में जानकारी नहीं मिल पाई थी, इसलिए ऐसा हुआ. वहां का चुनाव रद्द कर फिर से मतदान कराया जाएगा.

Leave a Reply