अगर आपको पुरानी चीज़ें इकट्ठा (Antique Collection) करने का शौक है, तो आपके लिए ये मौका सही है. अपने खजाने से एक रुपये का पुराना सिक्का निकालकर (1 Rupee Coin Can Make you Rich) आप उससे लखपति बन सकते हैं. 1985 में डिज़ाइन हुआ 1 रुपये का सिक्का (1 Rupee Coin can pay you in Lakhs) अगर घर में पड़ा है तो समझिए कि आप किस्मतवाले हैं क्योंकि ये सिक्का अपनी कीमत से लाखों गुना का फायदा आपको दिला सकता है.

हर किसी के अपने-अपने शौक (Antique Collection Hobby) होते हैं. किसी को नई-नई चीज़ें खरीदने का शौक होता है तो कोई पुरानी चीज़ें इकट्ठा करके रखना चाहता है. अगर आपको भी पुराने नोट और सिक्के (1 Rupee Coin Can Make you Rich) इकट्ठा करने का शौक है, तो अब आपका ये शौक आपको लखपति (1 Rupee Coin can pay you in Lakhs) बना देगा. इसकी वजह ये है कि 1985 में गढ़े गए 1 रुपये के सिक्के की कीमत (Online selling of old coin) अब लाखों में लग रही है.

ये सिक्के 4 भारतीय छापाखानों और यूनाइटेड किंगडम (United Kingdom News) के हीटन छापाखाने में गढ़े गए थे. H मार्क वाला कोई भी सिक्का अगर किसी के पास है, तो वो सिक्के के बदले लाखों रुपये (1 Rupee Coin Can Make you Rich) पा सकता है. कुछ साल पहले भी ऐसे ही सिक्के को नीलामी में अच्छे-खासे पैसे मिले थे. इस तरह के सिक्के भारतीय और ब्रिटिश छापाखानों में बनाए गए थे.

एक रुपये की कीमत लाखों में
देखने में आया है कि जिस सिक्के की कीमत लाखों में लग रही है वो 1982 से सर्कुलेशन में आया था और इसे आखिरी बार 1991 में छापा गया था. इस सिक्के को स्टेनलेस स्टील पर गढ़ा गया था और इसकी कीमत 4.85 ग्राम में लगाई गई थी. सिक्के के एक तरफ मक्के की दो बालियां बनी हुई हैं, जबकि दूसरी तरफ अशोक स्तंभ की फोटो है. सिक्के पर भारत को हिंदी और अंग्रेज़ी दोनों भाषाओं में लिखा गया है. 1985 H मार्क वाला एक रुपये का सिक्का दुर्लभ नहीं है, ऐसे में आपको इस सिक्के से लाखों का फायदा हो सकता है. ऐसा एक सिक्का 2.5 लाख रुपये में बिक रहा है क्योंकि अब ये चलन से बाहर हो चुका है.

कैसे बिकेगा सिक्का?
अगर आपके पास ऐसा सिक्का है और उसे बेचना चाहते हैं तो इसके ऑनलाइन भी सेल किया जा सकता है. Indiancoinmill.com नाम की साइट पर ऐसे सिक्के को बेचने की सुविधा है. ये वेबसाइट पुराने सिक्के और नोट बेचने का फ्री प्लेटफॉर्म है. आपको इस पर अपना ऐड डालना होता है और जिन लोगों को इसमें दिलचस्पी होगी, वे ई-मेल के ज़रिये आपसे संपर्क करते हैं. अगर सिक्के किसी अगर तरह की धातु से छापे गए होते हैं, तो वे और भी ज्यादा कीमती हो जाते हैं.

Leave a Reply