दोनो डोज लेने वाले लोगों को इसका लाभ मिलेगा। टीकाकरण को तेज करने के लिए यह कदम उठाया गया है। नर्सरी और एलकेजी में बच्चे का नामांकन करवाने वाले अभिभावक को कोरोना संक्रमण के दोनों डोज लेने का फायदा मिलेगा। जिन अभिभावकों ने कोरोना का दोनों डोज लिया होगा, उनके बच्चे को नर्सरी या एलकेजी नामांकन में पांच अंक का वेटेज मिलेगा। स्कूल की तरफ से अभिभावकों से इंट्रोडक्शन सत्र के दौरान यह जानकारी ली जायेगी। वहीं, कई स्कूल आवेदन फॉर्म के साथ ही इस बात की जानकारी अभिभावकों से लेगा। 

पहली बार नामांकन को टीकाकरण से जोड़ा गया

पहली बार नर्सरी और एलकेजी नामांकन में स्कूल द्वारा कोरोना टीकाकरण को जोड़ने का निर्णय लिया गया है। नर्सरी नामांकन के लिए ज्यादातर स्कूलों में दिसंबर में ऑनलाइन आवेदन लिये जायेंगे। इसके लिए स्कूलों द्वारा आंतरिक बैठक आयोजित की जा रही है। बैठक में कोरोना टीकाकरण को बढ़ावा देने और अभिभावकों के जागरूकता के लिए स्कूल द्वारा यह निर्णय लिया गया है। अभिभावकों से कोरोना टीकाकरण तिथि और उसका प्रमाण पत्र भी देखा जायेगा। नर्सरी और एलकेजी नामांकन प्रक्रिया दिसंबर से फरवरी तक चलेगी।

“कोरोना टीकाकरण के लिए अभिभावकों को जागरूक होना चाहिए। अभिभावक अगर टीका लेंगे तो इससे बांकी लोग भी सुरक्षित होंगे। स्कूलों द्वारा यह देखा जायेगा। इससे जिन अभिभावकों ने अभी तक टीका नहीं लिया है वो भी ले लेंगे।  -सीबी सिंह, एसोसिएशन ऑफ इंडिपेंडेंट स्कूल ऑफ बिहार

अभिभावकों को खोने वाले बच्चों को छूट

कोरोना के कारण जिन बच्चों ने माता या पिता को खो दिया हो, ऐसे बच्चे को पांच अंक का वेटेज दिया जायेगा। ऐसे बच्चे के नर्सरी नामांकन में स्कूल द्वारा छूट दिया जायेगा। अगर किसी बच्चे ने अपने दोनों अभिभावकों को खो दिया है तो ऐसे बच्चे का नामांकन के साथ नामांकन फीस में भी छूट दी जायेगी। इसमें लोयेला हाईस्कूल, सेंट माइकल हाईस्कूल, डान बास्को एकेडमी, नॉट्रेडम एकेडमी आदि स्कूलों ने यह निर्णय लिया है। वहीं, उन अभिभावकों को छूट दी जायेगी जिन्हें कोरोना संक्रमित होने के कारण टीकाकरण में देरी हुई है। ऐसे अभिभावकों को कोरोना संक्रमित होने का प्रमाण देना होगा।

इस तरह मिलेगा वेटेज

Leave a Reply