प्राण प्रतिष्ठा समारोह के दौरान बुद्ध मार्ग स्थित इस्कान मंदिर में महिलाओं की चेन चोरी करने के आरोप में पकड़ी गई शिवानी राव को कोतवाली पुलिस ने गुरुवार को जेल भेज दिया। वह पश्चिम बंगाल के हुगली जिले के मगरा थाना क्षेत्र की रहने वाली है। हालांकि, अब तक एक भी महिला की चेन बरामद नहीं हो पाई है। शिवानी के साथी भी पुलिस की गिरफ्त से दूर हैं। हैरानी की बात है कि जेल भेजे जाने से पहले शिवानी के अधिवक्ता ने जमानत याचिका दायर करने के लिए थानाध्यक्ष सुनील कुमार सिंह से काल कर पूरी जानकारी हासिल की। थानाध्यक्ष ने बताया कि शिवानी के सहयोगियों की तलाश की जा रही है। जेल में उससे मुलाकात करने वालों पर भी पुलिस की नजर रहेगी।

पुलिस ने 29 मिनट तक का फुटेज खंगाला

पुलिस ने इस्कान मंदिर से लेकर जीपीओ गोलंबर के बीच 29 मिनट तक का सीसीटीवी फुटेज खंगाला, जिसमें शिवानी के साथ छह संदिग्ध महिलाओं की तस्वीरें दिख रही हैं। हालांकि, अब तक उनकी पहचान नहीं हो पाई है। वे वारदात के बाद जीपीओ गोलंबर की तरफ फरार हो गईं। ऐसा माना जा रहा है कि चेन झपटने के बाद महिला चोरों ने उसे दूसरे साथी को सौंप दिया ताकि पकड़ने जाने पर उनके पास से बरामदगी नहीं हो पाए और वे आसानी से छूट जाएं।

चादर फेंककर उड़ाई गले से चेन

फुटेज में दिख रहा है कि संदिग्ध महिला चोरों ने श्रद्धालुओं के ऊपर चादर फेंकी, फिर उसके साथ गले से सोने की चेन खींच ली। वारदात को इतनी सफाई से अंजाम दिया गया कि पीड़ित महिला श्रद्धालुओं को भनक तक नहीं लगी। चेन खींचने के बाद उन्होंने चादर के साथ चेन दूसरे साथी को सौंप दी।

Leave a Reply