demo pic

सीबीआइ ने पोर्नोग्राफी और साइबर क्राइम रैकेट के खिलाफ देश भर में कार्रवाई की है. इसमें बिहार के पटना और सीवान समेत देश के 14 राज्यों के 77 शहर शामिल हैं. पटना के नौबतपुर और बिहटा के अलावा सीवान सदर बाजार में एक स्थान पर छापेमारी की गयी. इस दौरान पटना के नजदीकी लोकेशन से एक व्यक्ति की गिरफ्तार की सूचना है, हालांकि, इसकी पुष्टि नहीं की जा सकी है.

ऐसे देशभर के अलग-अलग शहरों से करीब 10 लोगों की गिरफ्तारी हुई है. नौबतपुर और बिहटा में जिन स्थानों पर छापेमारी हुई है, वे आवासीय परिसर हैं. शातिरों ने उन्हें किराये पर लिया था. वहां पोर्न फिल्में खासकर चाइल्ड पोर्न फिल्में तैयार और एडिट की जाती थीं. इन स्थानों से पेन ड्राइव, कंप्यूटर, लैपटॉप समेत अन्य चीजें बरामद की गयी हैं.

पूरे देश में एक साथ हुई छापेमारी

सीबीआइ और इंटरपोल ने पूरे देश में एक साथ छापेमारी की. सीबीआइ में ऑनलाइन चाइल्ड सेक्सुअल एब्यूज एंड एक्सप्लायटेशन प्रीवेंशन इंवेस्टिगेशन (ओसीएसएइ) नामक विशेष इकाई का गठन किया गया है. यह बच्चों से जुड़े साइबर अपराध खासतौर से पोर्नोग्राफी से जुड़े मामले में कार्रवाई करती है. इसकी जांच में यह बात सामने आयी कि ऑनलाइन चाइल्ड सेक्सुअल एब्यूज और प्रताड़ना से जुड़ी सामग्री स्थानीय स्तर पर ही तैयार की जाती है.

इसमें पूरा रैकेट काम करता है. सीबीआइ ने 23 अलग-अलग मामलों में 14 नवंबर को एफआइआर दर्ज की थी, जिसमें 83 आरोपित चिह्नित किये गये हैं. इसके बाद इनके खिलाफ राष्ट्रीय स्तर पर यह व्यापक अभियान चलाया गया. अब तक की जांच में पता चला है कि इस रैकेट में शामिल 50 से ज्यादा ग्रुप से जुड़े पांच हजार लोग इस तरह की पोर्नोग्राफी वीडियो, टेक्सट, चित्र, लिंक, पोस्ट समेत अन्य चीजें सोशल मीडिया पर तेजी से शेयर करते हैं.

input : parbhat khabar

Leave a Reply