आज शुक्रवार को बिहार सरकार में खनन मंत्री जनक के ओएसडी विजलेंस के निशाने पर चढ़े हैं. सुबह-सुबह स्पेशल विजलेंस की रेड से हड़कंप मच गया. SVU ने मंत्री के ओएसडी के तीन ठिकानों पर छापा मारा है. पटना, अररिया और कटिहार में निगरानी की छापेमारी जारी है.

विजलेंस ने पूर्व CDPO रत्ना चटर्जी के कटिहार स्थित घर निगरानी की टीम छापा मारा है. जहां सोने की बिस्किट, कैश से भरा सूटकेस मिला और एक हजार के पुराने नोट भी मिला है. साथ ही ओएसडी के भाई धनंजय कुमार ने रत्ना चटर्जी के खाते से बड़े ट्रांजेक्शन भी किये हैं. जिसके सबूत मिलने की बात सामने आ रही है. वहीं दिल्ली और पश्चिम बंगाल में बेहिसाब सम्पत्ति के कागजात भी मिले हैं. आपको बता दें कि ओएसडी मृत्युंजय कुमार ,बिहार प्रशासनिक सेवा के अधिकारी हैं.

निगरानी यूनिट के डीएसपी चंद्रभूषण ने कहा- निगरानी की यूनिट वर्ष 2011 में नौकरी से बर्खास्त सीडीपीओ रत्ना चटर्जी के आवास को खंगालने आयी है. आय से अधिक मामलों में तलाशी ली जा रही है. खनन विभाग का ओएसडी मृत्युंजय कुमार रत्ना चटर्जी के आवास पर आता जाता था.

जहां नीतीश कैबिनेट के खनन मंत्री जनक राम के सरकारी आप्त सचिव के ठिकानों पर छापेमारी चल रही है. इसके पहले मंत्री के ही निजी सचिव को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था. अब सरकारी OSD और उनके महिला मित्र समेत तीन लोगों को स्पेशल विजिलेंस यूनिट ने निशाने पर लिया है. पटना से लेकर अररिया तक एसवीयू की छापेमारी चल रही है.

Leave a Reply