इंजीनियरिंग में एडमिशन के लिए 12वीं में केमिस्ट्री की पढ़ाई की बाध्यता खत्म कर दी गयी है. इसकी जगह बॉयोलॉजी, कृषि व वोकेशनल विषयों को इसके विकल्प के रूप में मान्यता दी गयी है. जेईई मेन-2022 के आवेदन में यह संशोधन किया गया है. नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) की ओर से जारी इन्फॉर्मेशन बुलेटिन में यह जानकारी दे दी गयी है. इसमें कहा गया है कि अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआइसीटीइ) के नये नियमों के अनुसार बीटेक और बीई में एडमिशन के लिए स्टूडेंट्स को 12वीं में फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ, बायोलॉजी, बायोटेक्नोलॉजी, कृषि, बिजनेस स्टडीज, कंप्यूटर साइंस, इलेक्ट्रॉनिक्स और आइटी व अन्य वोकेशनल विषयों में से किन्हीं तीन विषयों के साथ 12वीं पास होना जरूरी है. लेकिन, इनमें दो विषयों- फिजिक्स और मैथ को 12वीं में रखना अनिवार्य होगा.

लेकिन, अब पहले की तरह केमिस्ट्री विषय रखना कोई जरूरी नहीं होगा. एनटीए के अधिकारियों ने कहा कि जेइइ मेन के लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया जारी है. केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की ओर से जारी निर्देश के बाद एआइसीटीइ ने नियमों में संशोधन किया. इसके बाद एनटीए ने 12वीं में पीसीएम (फिजिक्स, केमिस्ट्री व मैथ ) के अलावा दूसरे विषयों के स्टूडेंट्स को भी जेइइ मेन-2022 में शामिल होने का मौका दिया है.

31 मार्च तक कर सकते हैं आवेदन

एनटीए ने कहा कि जेइइ मेन-2022 के लिए केवल वे उम्मीदवार पात्र हैं, जिन्होंने 2020, 2021 में 12वीं या समकक्ष परीक्षा पास हुए हों या जो 2022 में कक्षा 12वीं परीक्षा में उपस्थित हुए या हो रहे हैं. जेइइ मेन दो चरणों में होगा. पहले चरण की परीक्षा 16, 17, 18, 19, 20 व 21 अप्रैल एवं दूसरे चरण की परीक्षा 24, 25, 26, 27, 28 व 29 मई को होगी. परीक्षा में शामिल होने के लिए 31 मार्च तक आवेदन कर सकते हैं.

Leave a Reply