खगड़िया. बिहार में एक बार फिर से खाकी शर्मसार हुई है. थाना में पदस्थापित एक महिला सिपाही के साथ छेड़खानी की घटना हुई वो भी थाना परिसर में. खास बात ये है कि इस घटना को किसी मनचले या मुजरिम ने नहीं बल्कि थाने के ही मुंशी के द्वारा अंजाम दिया गया. पुलिस महकमे को शर्मसार कर देने वाली ये घटना बिहार के खगड़िया जिले की है. महेशखूंट थाना में हुई इस घटना में ड्यूटी पर तैनात मुंशी की नियत ऐसी बिगड़ी कि वो सीधे लेडी कांस्टेबल के कमरे में जा घुसा.

आरोपी मुंशी ने सोए अवस्था में महिला कांस्टेबल से छेड़छाड़ की. इस घटना की शिकायत महिला सिपाही के द्वारा किए जाने के बाद मुंशी अजय कुमार सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है साथ ही एसपी के निर्देश पर पूरे मामले की जांच की जा रही है.

घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि महेशखूंट थाना में पहली मंजिल पर महिला सिपाहियों के लिए एक कमरा है. इस कमरे में तीन महिला सिपाही के ठहरने की ही जगह है, इसलिए पीड़ित महिला सिपाही किसी अन्य जगह पर सो रही थी. इसी दौरान तड़के करीब चार बजे थाना का मुंशी चुपके से वहां पहुंच गया और महिला सिपाही के साथ छेड़छाड़ करने लगा. महिला सिपाही ने इसका विरोध किया तो मुंशी ने महिला सिपाही को पकड़कर एक कमरे में बंद कर दिया. मामले में हो-हल्ला होने के बाद अन्य महिला सिपाही भी जागीं और पूरी घटना की जानकारी थाना प्रभारी नीरज कुमार को दी. इसके बाद थानाध्यक्ष ने त्वरित कार्रवाई करते हुए मुंशी को हिरासत में ले लिया और फिर जेल भेज दिया.

महेशखूंट थाना में ही पदस्थापित महिला सिपाही ने मुंशी के खिलाफ महेशखूंट थाना में ही प्राथमिकी दर्ज करवाई जिसके बाद महेशखूंट थाना प्रभारी ने मुंशी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. इस मामले में खगड़िया एसपी अमितेश कुमार ने बताया कि गोगरी के डीएसपी को पूरे मामले की जांच के आदेश दिये गए हैं. इस घटना के बाद से लोगों के मन में लगातार सवाल उठ रहा है कि जिन पुलिसवालों के जिम्मे  महिलाओं के सुरक्षा का जिम्मा है वही महिला सिपाही खुद थाना में असुरक्षित हैं तो फिर कैसे सिविल सोसायटी की महिलाओ को सुरक्षित रखा जा सकता है.

Leave a Reply