बिहार ही नहीं देशभर में महिलाओं का सुरक्षा एक बड़ा मुद्दा बन गया है. आए दिन लड़कियां छेड़खानी का शिकार होती हैं. कई बार पुलिस भी लड़कियों की सुरक्षा करने में असफल दिखाई देती है. इसी बात को ध्यान में रखते हुए बिहार के औरंगाबाद जिले के सत्येंद्र नगर निवासी सूर्यकांत सिन्हा और निभा सिन्हा के बेटे श्रेयस बी चंद्रा ने वीमेन सेफ्टी डिवाइस का आविष्कार किया है. श्रेयस द्वारा निर्मित इस डिवाइस की चर्चा बिहार दिवस पर पटना के गांधी मैदान में आयोजित साइंस एग्जीबिशन में सभी लोगों द्वारा की गई.

 बटन दबाते ही मनचले को लगेगा झटका  साथ ही डिवाइस कैसे कार्य करती है, इसके बारे में भी लोगों ने जानकारी प्राप्त की. श्रेयस के पिता और माता दोनों ही औरंगाबाद में सरकारी शिक्षक हैं. छात्र ने बताया कि उसके द्वारा निर्मित वीमेन सेफ्टी डिवाइस का बटन दबाने से छेड़खानी करने वाले को बिजली का झटका लगेगा और वह कुछ क्षण के लिए मूर्छित हो जाएगा. इस बात का फायदा उठाते हुए युवतियां या महिलाएं वहां से सुरक्षित निकल जाएंगी. इधर, झटका लगने के बाद मनचले भी सबक सीख जाएंगे.  

मोबाइल से भी हो जाएगा चार्ज छात्र की मानें तो यदि डिवाइस डिस्चार्ज भी हो जाएगा तो आपातकाल में उसे मोबाइल से भी चार्ज किया जा सकता है. उसने बताया कि उसका डिवाइस अभी प्रारंभिक अवस्था में है और इस पर बहुत काम करने की जरूरत है. वहीं, अपने बेटे की सोच को लेकर उसकी शिक्षिका मां ने कहा कि एक तरफ देश में कई नालायक बेटे महिलाओं के प्रति गन्दी सोच रखते हैं. वहीं, दूसरी तरफ उनके बेटे उनको सुरक्षित रखने का डिवाइस बनाया है. उन्होंने कहा कि सरकार को चाहिए कि इसे विकसित करे ताकि सिर्फ रेप और छेड़खानी के अलावे अपहरण एवं अन्य आपराधिक घटना पर भी लगाम लगाई जा सके.

Leave a Reply