कुशेश्वरस्थान का परिणाम आने के साथ ही राजद विधायक तेज प्रताप यादव ने हार की ठीकरा तेजस्वी यादव पर फोड़ा है। उन्होंने हार के लिए राजद के पांच नेताओं को जिम्मेवार बताया और कहा कि कांग्रेस के साथ गठबंधन तोड़ना भी भारी पड़ा। तेज प्रताप (Tej Pratap Yadav) के मुताबिक राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, नेता प्रतिपक्ष के राजनीतिक सलाहकार संजय यादव, विधान पार्षद सुनील सिंह और शिवानंद तिवारी के चलते हार हुई है। तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) जबतक इन्हें किनारे नहीं करते हैं तबतक वह मुख्यमंत्री नहीं बन सकते हैं।

अब भी वक्त है संभल जाएं तेजस्वी’

मतगणना के दौरान मंगलवार को इंटनेट मीडिया पर तेज प्रताप यादव ने कोई प्रतिक्रिया देने से परहेज की। लेकिन कुशेश्वरस्थान सीट का परिणाम सामने आने के बाद उन्होंने मीडिया से बात की। तेज प्रताप ने यह भी दावा किया कि चारों नेताओं को अगर पार्टी से निकाल दिया जाए तो मैं बिहार में राजद की सरकार बनाकर दिखा दूंगा। उन्होंने कहा कि, तेजस्वी को अगर सीएम बनना है तो मेरी सलाह माननी ही होगी। अभी भी समय है, तेजस्वी संभल जाएं। नहीं तो ये लोग चारों राजद को बर्बाद कर देंगे।

कांग्रेस से अलग होने का फैसला गलत’

राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने कहा कि आरजेडी ने कांग्रेस से अलग होकर चुनाव लड़ने का जो फैसला किया वो गलत है। उन्होंने कहा कि मैंने तो शुरू से कांग्रेस को साथ लेकर चलने की बात की है। सोनिया गांधी से लगातार पिता जी की बात होती है रही है। इस चुनाव के दौरान भी दोनों की बीच बात हुई। 

तेजस्वी को बहुत दर्द हो रहा होगा’

तेज प्रताप यादव ने जगदानंद सिंह, संजय यादव, विधान पार्षद सुनील सिंह और शिवानंद तिवारी पर जमकर अपनी भड़ास निकाली। उन्होंने कहा कि जिस थाली में ये लोग खाते हैं उसी थाली में छेद करते हैं। तेज प्रताप ने इस दौरान यह भी कहा कि, हार के बाद तेजस्वी को कितना दर्द हो रहा होगा ये मैं समझ सकता हूं। 

Leave a Reply