बिहार के बड़े विश्वविद्यालय बीआरए बिहार यूनिवर्सिटी में परीक्षा की कॉपी पर लिखे मैसेज परीक्षकों की परीक्षा ले रहे हैं। पार्ट थर्ड की परीक्षा की कॉपियों में छात्रों के तरह-तरह के मैसेज परीक्षार्थियों ने कॉपी जांच रहे शिक्षकों को ऑफर देकर पेशोपेश में डाल दिया है। छात्रों ने कॉपियों पर ऐसी-ऐसी बातें लिख दी हैं कि जिससे पढ़कर कॉपी जांच रहे शिक्षक हैरान और परेशान हो रहे हैं। छात्रों ने कॉपी पर अपने नंबर लिख दिए हैं और लिखा है कि सर, आप कॉल करें, बाकी बात फोन पर होगी। काफी छात्रों ने बीमार होने की बात भी लिख दी है।

कॉपी जांचने वाले कुछ परीक्षकों ने बताया कि कॉपी पर छात्रों ने उत्तर कम और उलूल-जुलूल बातें अधिक लिखी हैं। ऐसी बातें लिखने से उन्हें कोई फायदा नहीं होने वाला। कॉपी जांच रही एक परीक्षक ने बताया कि एक कॉपी पर छात्र ने अपना नंबर लिख दिया था और लिखा कि प्लीज कॉल मी। उसने कॉपी पर उत्तर भी सही से नहीं लिखा है। कई कॉपियों में ऐसी बातें मिल रही हैं। छात्रों ने इस बार परीक्षा मन से नहीं दी है

आंख में दर्द था, इसलिए नहीं कर सका तैयारी…:

अर्थशास्त्रत्त् की कॉपी जांचने वाले एक शिक्षक ने बताया कि एक छात्र ने कॉपी पर लिखा है कि परीक्षा के दौरान उसकी आंख में काफी दर्द था, इसलिए वह तैयारी नहीं कर सका। परीक्षा उसे पास कर दें, इसके लिए वह उसका उपकार नहीं भूलेगा। कुछ छात्रों ने लिखा है कि दो वर्ष कोरोना ने पढ़ाई को प्रभावित किया, स्मार्ट फोन नहीं होने से ऑनलाइन क्लास भी नहीं कर सका। परीक्षा में फेल हुआ तो कहीं का नहीं रहूंगा। परीक्षकों ने बताया कि हर चौथी-पांचवीं कॉपी में छात्रों की लिखी ऐसी बातें सामने आ रही हैं।

मार्च के दूसरे सप्ताह में रिजल्ट आने की उम्मीद

पार्ट थ्री का रिजल्ट मार्च के दूसरे सप्ताह में आने की उम्मीद है। परीक्षा विभाग के अनुसार, कॉपियों की जांच काफी तेजी से चल रही है। आधी कॉपियों की जांच पूरी हो चुकी है। कॉपी जांच होने के बाद रिजल्ट बनाने की तैयारी शुरू कर दी जाएगी। पार्ट थ्री में 55 हजार छात्रों ने परीक्षा दी है। कॉपियों की जांच के लिए इस बार कई परीक्षकों की पहली बार ड्यूटी लगाई गई है।

Leave a Reply