पटना के फुलवारीशरीफ अंतर्गत गौरीचक थाना पुलिस ने करीब एक माह पूर्व हुई अर्जुन मांझी उर्फ बराती मांझी की हत्या में शामिल उसकी पत्नी और बेटी समेत इनके आशिक को गिरफ्तार कर लिया.

अर्जुन की पत्नी राजमणि देवी और बेटी पूनम कुमारी का सिद्धू नामक एक व्यक्ति से नाजायज रिश्ता था. इसी नाजायज रिश्ते का अर्जुन विरोध करता था. इससे तंग आकर पत्नी-बेटी ने आशिक से मिल अर्जुन मांझी की गला दबा कर हत्या कर शव मोड़हर नदी में फेंक कर फरार हो गये थे.

थानाध्यक्ष गौरीचक ने बताया कि पटना से शहर इलाके से छिप कर रह रहे अर्जुन मांझी की हत्यारोपित पत्नी राजमणि बेटी पूनम और प्रेमी सिद्धू को गिरफ्तार किया गया. इसकी जानकारी जब मृतक अर्जुन के गांव रघुरामपुर के लोगों को मिली तो सैकड़ों की संख्या में महिला-पुरुष थाने पर जमा हो गये. लोग पुलिस प्रशासन से इन हत्यारोपितों को कड़ी सजा देने की मांग कर रहे थे. पुलिस टीम ने गिरफ्तार तीनों हत्यारोपितों को जेल भेजने के लिए कोर्ट ले गयी.

मालूम हो कि करीब एक माह पूर्व अर्जुन मांझी उर्फ बराती मांझी का शव मोड़हर नदी के किनारे से बरामद हुआ था. इस दौरान लोगों ने बेलदारीचक के पास पटना-गया और बिहटा-सरमेरा मार्ग को घंटों जाम कर प्रदर्शन किया था.

एक अलग मामले में फुलवारीशरीफ में ही प्रेम प्रसंग में पूर्व मुखिया के भतीजे आकाश कुमार ठाकुर की हत्या की गयी थी. पुलिसिया जांच में यह पता चला है कि आकाश करीब डेढ़ साल पूर्व अपने गांव के ही लड़की को भगा कर ले गया था इस मामले में जेल से छूट कर आया था. जेल से छूटने के बाद लड़की के घरवालों ने जान से मारने की धमकी दी थी.

थानेदार माशुक अली ने बताया कि हत्या प्रेम प्रसंग में की गयी. मामला दर्ज करने के बाद पुलिस सभी नामजद की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है. पुलिस मृतक के मोबाइल का सीडीआर निकाल कर जांच कर रही है. पुलिस का दावा है कि कॉल डिटेल के आधार पर कुछ सुराग मिले हैं, कि कौन युवक था जिसने आकाश को फोन कर बुलाया और हत्या कर दी.

गौरतलब हो कि तीन दिन पूर्व कुरथौल के परशुराम चक गांव में आकाश कुमार ठाकुर की गला घोटने के बाद सिर कुचल कर हत्या कर दी गयी थी. मृतक के भाई रंजीत कुमार ठाकुर ने बताया कि चार लोग इस घटना में शामिल हैं जिसका नाम है वोक्कू उर्फ साहिल, पप्पू, संतोष केसरी और विक्की कुमार को नामजद किया गया है.

Leave a Reply