प्‍यार जमाने की बंदिशों को न तो मानता है और न ही रीति-रिवाजों की परवाह करता है. जब दो इंसान प्रेम करते हैं तो उनकी दुनिया बस उन्‍हीं तक सिमट कर रह जाती है. ऐसे में वे साथ रहने के लिए कोई भी कदम उठाने से तनिक भी नहीं हिचकिचाते हैं. प्‍यार का ऐसा ही एक मामला बिहार के बांका में सामने आया है. यहां एक युवक ने गांव की एक युवती को अपना दिल हार बैठा. दोनों एक ही टोले के थे, ऐसे में परिजन दोनों के प्रेम संबंध से सहमत नहीं थे. इधर, ब्‍वॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड का दूर रहना मुश्किल हो गया था, ऐसे में प्रेमी ने होली के दिन गुलाल लगाते-लगाते प्रेमिका की मांग भी भर दी. इसके बाद दोनों घर छोड़ कर चले गए. दोनों ने न तो समाज की परवाह की और न ही परिजनों की बात सुनी. यह घटना पूरे इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है.

दरअसल, होली के दिन दोनों ने जमकर साथ में होली खेली और घंटों एक-दूसरे के साथ वक्‍त बिताया. इसी दौरान दोनों ने दूर रहने की मजबूरी को मानने से इनकार कर दिया. दोनों योजना बनाकर घर से निकल गए. इसके बाद प्रेमी ने प्रेमिका की मांग को सिंदूर से सजा दिया. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, टीना गांव निवासी बबूल तांती के बेटे जितेंद्र कुमार का अपने ही टोले में रहने वाली एक युवती से पिछले तकरीबन 2 वर्षों से चल रहा था. उनके प्रेम संबंध की चर्चा पूरे गांव में थी, लेकिन दोनों के परिजनों को यह संबंध मंजूर नहीं था. एक ही टोला निवासी होने के कारण उनकी शादी परिजनों की सहमति से हो पाना नामुमकिन था. एसे में होली के दिन दोनों सभी बाधाओं को तोड़ते हुए घर से भागकर एक मंदिर में जा पहुंचे और वहां शादी कर ली.

रातोंरात छोड़ दिया बांका
जितेंद्र ने शादी के बाद प्रेमिका से पत्‍नी बनी युवती संग रातोंरात बांका छोड़ दिया. ‘दैनिक जागरण’ की खबर के अनुसार, वे दोनों बांका से भागलपुर पहुंच गए. इस बीच उन्‍होंने अपनी शादी की तस्‍वीर भी सोशल मीडिया में वायरल कर दी. अगली सुबह युवती के परिजन यह खबर सुनाने जितेंद्र के घर पहुंचे तो बबलू तांती उन पर भड़क गए. ग्रामीणों ने किसी तरह से बीच-बचाव किया. इस बीच, यह मामला स्‍थानीय पुलिस के पास पहुंच गया.

Leave a Reply