daru

बिहार में शुक्रवार को मद्य निषेध दिवस मानाया गया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और मंत्रीगण सहित सभी कार्यालयों के कर्मचारियों ने आजीवन शराब न पीने की कसमें खाईं। पश्चिमी चंपारण के एक मास्टर ने भी यह शपथ ली थी लेकिन शाम होते ही वे अपनी इस कसम को भूल गए। पुलिस ने मास्टर को गिरफ्तार कर लिया है।

सरकारी स्कूल के एक हेडमास्टर शुक्रवार को नशे में धुत होकर झूमते हुए अपने घर जा रहे थे। इसी दौरान किसी ने पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस ने भी कुछ घंटे पहले शराब को हाथ न लगाने की कसम खाई थी। इसलिए तुरंत कार्रवाई करते हुए मास्टर को पकड़ लिया। पूछताछ में टीचर ने कहा कि उन्होंने बिहार में नहीं बल्कि यूपी में शराब पी है।

जानकारी के अनुसार पुलिस ने शाम के सात बजे हेडमास्टर को यूपी के छतौनी से शराब पीकर लौटते हुए गिरफ्तार कर लिया। यह मामला पश्चिमी चंपारण के पिपरासी थाना क्षेत्र के कांटी टोला के श्रीपतनगर का है। गिरफ्तार आरोपी का नाम कुंदन कुमार गोंड है। घटना की जानकारी एसपी को भी दी गई है। उन्होंने कहा कि मेडिकल जांच के बाद आरोपी को जेल भेजा जाएगा।

input : hindustan

Leave a Reply