मुजफ्फरपुर मुजफ्फरपुर आई हॉस्पिटल मामले की जांच रिपोर्ट आ गयी है. मोतियाबिंद ऑपरेशन मामले की जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग ने एक टीम का गठन किया था. पांच सदस्यीय टीम ने सोमवार को अपनी जांच रिपोर्ट सौंप दी है

रिपोर्ट में ऑपरेशन के लिए इस्तेमाल किये गये कमरे को संक्रमित माना गया है. जांच के दौरान ओटी में स्यूडोमोनास और स्टेफाइलोकोकस नामक बैक्टीरिया मिले हैं. वहीं जांच रिपोर्ट में स्टर्लाइजेशन में गड़बड़ी की बात भी कही गयी है. रिपोर्ट में इन्हीं कारणों से लोगों की आंखों में इंफेक्शन होने की बात कही गयी है. जिसके कारण 16 लोगों की आंखों की रोशनी चली गयी.

जैसा कि आप जानते हैं कि मुजफ्फरपुर के आई हॉस्पिटल में 22 नवंबर को 65 लोगों ने मोतियाबिंद का ऑपरेशन कराया था. इसके बाद से ही आंखों में तकलीफ होने लगी. समस्या इतनी बढ़ गयी कि लोगों के आंखों को निकालने के सिवाय कोई रास्ता नहीं बचा.

अब तक करीब 17 लोगों के आंखों को निकाला जा चुका है. चिकित्सक और स्वास्थ्य कर्मियों की लापरवाही के कारण 17 लोगों की जिन्दगी में अंधेरा छा गया. अन्य मरीजों को बेहतर इलाज के लिए पटना भेजा गया है.