मोतिहारी महिला थाना में शिकायत दर्ज कराने आई नवविवाहिता श्रेया शर्मा की शनिवार की देर रात इलाज के दौरान मौत हो गयी। महिला जहानाबाद की रहने वाली थी। वह ससुराल वालों पर दहेज प्रताड़ना की एफआईआर दर्ज कराने पटना से मोतिहारी आयी थी। उसे रात में सुरक्षा की दृष्टि से महिला पुलिस बैरक में रखा गया था। रात में तबीयत बिगड़ने पर पुलिस ने सदर अस्पताल पहुंचाया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। 

ऐसी आशंका व्यक्त की जा रही है कि नवविवाहिता ने पुलिस बैरक में ही जहर पी लिया हो, जिससे उसकी मौत हो गयी। हालांकि मौत की असली वजह का खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हो पायेगा। सूचना पर पहुंचे परिजनों ने नवविवाहिता के पति सहित सात परिजनों पर दहेज प्रताड़ना व हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है।

एसपी नवीन चन्द्र झा ने बताया कि मृतका की मां के बयान पर श्रेया के पति सहित सात परिजनों पर एफआईआर दर्ज कर ली गयी है। नामजद आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए शहर के गोपालपुर मोहल्ले के आलावा गोविन्दगंज व संग्रामपुर थाना क्षेत्र के कई स्थानों पर छापेमारी की गई है। मुजफ्फरपुर से एफएसएल की टीम बुलाकर महिला थाना के बैरक सहित अन्य स्थानों से साक्ष्य एकत्रित किया जा रहा है।

रांची में हुआ प्यार, आर्यसमाज मंदिर में की थी शादी

जानकारी के अनुसार, जहानाबाद के घोषी थाना के अमरपुरा निवासी नरेश शर्मा की पुत्री श्रेया शर्मा अपने परिजनों के साथ रांची में रहती थी। पटना के इंक्राफ्ट कंपनी में मार्केटिंग का काम करने वाला गोविन्दगंज थाना के मुड़ा गांव के सुशांत सिंह का पुत्र राहुल कुमार काम के सिलसिले में हमेशा रांची जाता-आता था। इसी दौरान राहुल व श्रेया की मुलाकात हुई। धीरे-धीरे दोनों में प्यार हुआ और इसी वर्ष 16 अगस्त को दोनों ने रांची के आर्य समाज मंदिर में प्रेम विवाह कर लिया। शादी के अगले दिन राहुल श्रेया को लेकर पटना आ गया। दोनों अनीसाबाद में किराए के मकान में रहने लगे।

ससुरालवालों पर बीस लाख रुपये दहेज मांगने का आरोप

श्रेया की मां उषा शर्मा ने पुलिस को दिए आवेदन में बताया है कि शादी के बाद से ही राहुल व उसके परिजन श्रेया पर अपने मायके वालों से दहेज में बीस लाख रुपये मांगने का दबाव डालने लगे। जब उसने मायके से दहेज मांगने से इनकार किया तो उसे प्रताड़ित किया जाने लगा। ससुराल वाले उसके साथ मारपीट करने लगे और कई बार तो उसका खाना-पानी भी बंद कर देते थे। चार रोज पहले राहुल श्रेया को डेरा पर छोड़कर अपने पिता के साथ घर भाग आया। श्रेया अपने पति राहुल के खिलाफ आवेदन लेकर पटना एसएसपी ऑफिस पहुंची। एसएसपी ऑफिस से उसे बताया गया कि आपका आवेदन मोतिहारी महिला थाने को भेजा जा रहा है। उसी आवेदन की जानकारी लेने श्रेया शनिवार शाम महिला थाना मोतिहारी पहुंची थी। यहां महिला थानाध्यक्ष सरिता कुमारी ने बताया कि उसका आवेदन अभी थाने में नहीं आया है।

input : hindustan

Leave a Reply