मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने ऐसा बयान दिया है, जिससे बिहार की राजनीति में एक बार फिर से अटकलों का बाजार गर्म हो गया है. सबके मन में एक ही सवाल है कि अब बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार का अगला कदम क्‍या होगा? नीतीश कुमार से जब पूछा गया कि क्‍या वह लोकसभा चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं? इस पर सीएम नीतीश (Chief Minister Nitish Kumar) ने चौंकाने वाला बयान दिया. उन्‍होंने कहा था कि ऐसी कोई बात नहीं है. सब जग का सदस्‍य तो बन ही गया हूं, बस राज्‍यसभा ही बचा है. उनके इस बयान के बाद चार्चाओं का बाजार गर्म हो गया. चर्चा होने लगी की क्‍या नीतीश कुमार उपराष्‍ट्रपति (Vice President of India) बनने वाले हैं? या फिर केंद्र की राजनीति शुरू करने वाले हैं? अब मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने एक और बयान देकर राजनीतिक पंडितों की समस्‍याएं बढ़ा दी हैं

दरअसल, बिहार विधानसभा का बजट सत्र समाप्‍त होने के बाद मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने पहले दिए गए बयानों को लेकर शुरू हुई अटकलबाजी के दौर पर विराम लगाने की कोशिश की है. उन्‍होंने कहा कि अब उनकी कोई व्‍यक्तिगत इच्‍छा नहीं रही है. यह भी नहीं कि वह राज्‍यसभा जाएं. उनके इस बयान के बाद एक बार फिर से प्रदेश के राजनीतिक गलियारों में चार्चा का बाजार गर्म है कि अब नीतीश कुमार का अगला कदम क्‍या होगा? हालांकि, यह सभी जानते हैं कि नीतीश कुमार एक मंझे हुए राजनीतिज्ञ हैं. वह केंद्रीय मंत्री रहकर केंद्र की राजनीति भी कर चुके हैं और फिलहाल डेढ़ दशक से भी ज्‍यादा समय से बिहार के मुख्‍यमंत्री हैं

राज्‍यसभा सदस्‍य बनने की इच्‍छा नहीं?

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को साफ़-साफ़ कहा, ‘जब मैं विधायक बना था, तब मेरी इच्छा थी कि मैं MP बनूं. उसके बाद मैंने लोकसभा का चुनाव लड़ा और सांसद भी बन गया. बाद में मैं 5 बार MP बना और केंद्र में मंत्री भी रहा. उसके बाद कोई इच्छा नहीं रही थी. फिर जब पूरा समीकरण हमारे पक्ष में था, तब मुझे लोगों ने मुख्यमंत्री बनाया. अब मेरी कोई ऐसी इच्छा नहीं है कि मैं राज्यसभा के लिए सांसद बनूं.’

Leave a Reply