महिला मित्र से मिलने पहुंचे मुंगेर के दारोगा शिवशंकर प्रसाद को लोगों ने बंधक बनाकर पीट दिया। घंटों बंधक बनने के बाद सूचना पर पश्चिमी चंपारण के चिउटांहा थाने की पुलिस ने दारोगा को मुक्त कराया। साथ ही हंगामा कर रहे लोगों को शांत कराया। पुलिस दारोगा को मुक्त करा थाने ले आई। मामला चिउटाहां थाना क्षेत्र के बैरागी सोनबरसा का है।

रामनगर एसडीपीओ सत्यनारायण राम ने बताया ग्रामीणों ने शक के आधार पर एएसआई को बंधक बनाया था। लेकिन इस संबंध में महिला के परिजनों ने थाने में लिखित आवेदन दिया था कि उनका एएसआई से पारिवारिक संबंध है। ऐसे में वे उन लोगों से मिलने आये थे। हालांकि मामले की जांच के निर्देश दिए गए हैं।

घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि एएसआई शिवशंकर प्रसाद वर्ष 2011-12 में चिउटाहां थाने में एएसआई के पद पर कार्यरत थे। उसी समय गांव की एक महिला से उनकी नजदीकी बढ़ी थी। यह नजदीकी अभी तक थी। हालांकि इस दौरान एएसआई का कई जगहों पर तबादला हुआ, लेकिन एएसआई महिला मित्र से मिलने आते रहे। यह बात ग्रामीणों को नागवार लग रही थी। 

मंगलवार को भी एएसआई महिला से मिलने आए थे। ये बात गांव वालों को नागवार गुजरी और उन्होंने एएसआई को पकड़ लिया। इस दौरान दारोगा भी लोगों पर पुलिसिया रौब दिखाने लगे। ग्रामीणों और दारोगा में विवाद होने लगा। इसके बाद ग्रामीणों ने उन्हें बंधक बना लिया और पिटाई कर दी।

Leave a Reply