खगड़िया के मानसी रेलवे स्टेशन पर मंगलवार को आनंद विहार से सहरसा जा रही 15280 डाउन पुरबिया एक्सप्रेस ट्रेन में प्रसूता ने एक बच्चे को जन्म दिया। प्रसव को लेकर ट्रेन डेढ़ घंटे से अधिक समय तक रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर दो पर रुकी रही। पीड़िता 23 वर्षीया गीता देवी सहरसा जिले के सौर बाजार थानांतर्गत कंचनपुरा कचरा गांव निवासी सोहन कुमार की पत्नी हैं।

प्रसव पीड़ा से कराह रही महिला के परिजन ने गार्ड को इसकी सूचना दी। इसके बाद मानसी में ट्रेन रुकने पर पीड़िता के पति ने सूचना स्टेशन मास्टर को दी। स्टेशन मास्टर ने कंट्रोल रूम को सूचना दी। कंट्रोल रूम ने मानसी में ही इलाज की सुविधा उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। सूचना पर मानसी रेलवे अस्पताल के चीफ फार्मासिस्ट शशिभूषण कुमार, मेट्रॉन सीमा कुमारी व सहयोगी ललन पासवान ने उन्हें चिकित्सा सुविधा प्रदान की। 

फार्मासिस्ट शषिभूषण कुमार ने बताया कि शौचालय में ही प्रसूता को पीड़ा के बाद प्रसव हो गया था। काफी देर तक शौचालय से वापस नहीं लौटने पर उसके पति को प्रसव की जानकारी मिली। पीड़िता ने तीसरी संतान के रूप में बालक को जन्म दिया। प्रसव को लेकर मानसी रेलवे रेलवे स्टेशन में यह ट्रेन 5:03 बजे से 6:43 बजे तक यानि एक घंटा 40 मिनट तक रुकी रही। इस दौरान मानसी आरपीएफ इंस्पेक्टर पीके झा भी दल बल के साथ मौजूद रहे। उन्होंने बताया कि जच्चा और बच्चा स्वस्थ हैं

Leave a Reply