देशभर के लोग भले ही आसमान छूते पेट्रोल-डीजल के दाम में भारी इजाफे से त्राहिमाम कर रहे हों, बिहार की डिप्टी सीएम रेणु देवी ने इसे बाजिव करार दिया है. रेणु देवी ने आज कहा- आप लोग ये नहीं देख रहे हैं कि कोरोना वैक्सीन लगाने में कितना पैसा लग गया है. लोगों को ये देखना चाहिये औऱ इसकी चिंता करनी चाहिये. हम स्वस्थ रहेंगे तो बहुत पैसा कमा लेंगे.

देखिये क्या बोलीं रेणु देवी

दरअसल बिहार की डिप्टी सीएम रेणु देवी बगहा में एक सुगर मिल में पेराई शुरू होने का उद्घाटन करने पहुंची थी. वहां गन्ना किसान मौजूद थे. वे अपनी परेशानी बता रहे थे. पेट्रोल-डीजल के दाम में इजाफे के कारण उन्हें खेती करने और उपज को बाजार तक पहुंचाने में बहुत परेशानी हो रही है. इसमें काफी पैसे खर्च हो रहे हैं औऱ उपज का उतना दाम नहीं मिल रहा. किसानों के सवालों को मीडिया ने बिहार के डिप्टी सीएम से पूछा. फिर देखिये उन्होंने क्या कहा

“जो पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर सवाल कर रहे हैं, वे प्रोपेगंडा कर रहे हैं. मैं किसान भाइयों और जनता से अपील करना चाहती हूं कि सरकार ने 100 करोड़ लोगों के लिए वैक्सीन बनवाने में खरबों-खरब रुपए खर्च किए हैं. वैक्सीन लगवाकर लोगों को सुरक्षित किया है. हमने छोटे-छोटे बच्चों को वैक्सीन लगवाकर उनका भविष्य सुरक्षित किया है. लोगों को इस बात को महसूस करना चाहिए और आगे बढ़ना चाहिए. हम स्वस्थ रहेंगे तो बहुत पैसा कमा लेंगे.”

वैसे डिप्टी सीएम रेणु देवी ने ये भी कहा कि सरकार ने अभी डीजल का दाम 10 रुपए कम किये हैं. आगे भी इसका दाम निश्चित रूप से कम होगा. लोगों को किसी प्रोपगैंडा में पड़ने की जरूरत नहीं है.

दरअसल बिहार के गन्ना किसान अपने उपज यानि गन्ना की कीमत बढ़ाने की मांग कर रहे हैं. किसानों का कहना है कि इस साल हुई बेमौसम और भारी बारिश से उनकी फसल को बहुत नुकसान हुआ है. उपर से पेट्रोल-डीजल की लगतार बढ़ती कीमत ने गन्ना के उत्पादन में लागत को भी काफी बढ़ा दिया है. लेकिन गन्ना का दाम उस मुताबिक नहीं बढ़ा है. फिलहाल सरकार ने बिहार में सामान्य किस्म के गन्ने के लिए प्रति क्विंटल 315 रूपये का रेट निर्धारित किया है. डिप्टी सीएम रेणु देवी ने किसानों को संयम बरतनने को कहा. उन्होंने कहा कि जिन किसानों का भी फसल बर्बाद हुआ है उन्हें राज्य सरकार मुआवजा देगी.

Leave a Reply