एनडीए में नेतृत्व के सवाल को लेकर बीजेपी और जेडीयू के बीच लगातार टकराव देखने को मिल रहा है। जेडीयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने आज एक बार फिर बीजेपी को इस मसले पर खरी-खरी सुना दी है।

पटना में जेडीयू की तरफ से आयोजित सम्राट अशोक जयंती समारोह के मंच से उपेंद्र कुशवाहा ने खुला ऐलान कर दिया है कि नेतृत्व के मसले पर उनकी पार्टी कोई समझौता करने नहीं जा रही है। नीतीश कुमार हमारे नेता हैं और नीतीश के बगैर हम किसी गठबंधन का हिस्सा नहीं हो सकते।

इतना ही नहीं उपेंद्र कुशवाहा ने आरक्षण को लेकर बड़ी साजिश की तरफ इशारा किया है। कुशवाहा ने कहा है कि जातीय जनगणना पर बीजेपी की चुप्पी बेहद खतरनाक है। बीजेपी के एक बड़े नेता ने केंद्र में मेरे मंत्री रहते हुए इस बात पर सहमति जताई थी कि जातीय जनगणना होनी चाहिए लेकिन बीजेपी बाद में अपने इस स्टैंड से पीछे हट गई। कुशवाहा ने आरोप लगाया कि अगर जातीय जनगणना नहीं हुई तो आरक्षण को खत्म कर दिया जाएगा। कुशवाहा ने कहा कि आरक्षण छीनने की साजिश रची जा रही है।

Leave a Reply