कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन 16 जनवरी से शहरी क्षेत्र में विशेष टीकाकरण एक्सप्रेस चलाएगा। प्रत्येक वार्ड में 5 टीका एक्सप्रेस रहेंगी। इसमें 15 से 18 आयु वर्ग के स्कूली छात्र या किशोर टीकाकरण करा सकते हैं। इसके अलावा इस दौरान 60 साल से अधिक आयु वर्ग के फ्रंटलाइन वर्कर प्रिकॉशनरी डोज ले सकते हैं।

जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह द्वारा पटना नगर निगम के सभी अंचल के वार्ड पार्षदों के साथ शुक्रवार को बैठक कर टीकाकरण के सफल एवं सुचारू संचालन के लिए आवश्यक सुझाव प्राप्त किया गया। इस पर रणनीति तय की गई। 16 जनवरी से 30 तक टीका एक्सप्रेस चलेंगी। इसके तहत प्रत्येक अंचल को पांच गाड़ियां उपलब्ध कराई जाएंगी, जिसमें वैक्सीनेटर एवं वेरी फायर शामिल रहेंगे।

हर वार्ड में 3 दिन रहेगी टीका एक्सप्रेस
जिलाधिकारी ने सभी कार्यपालक पदाधिकारी को अपने वार्ड पार्षदों से समन्वय स्थापित कर 15 दिनों के लिए 30 जनवरी तक का वर्क प्लान बनाने का निर्देश दिया। प्लान के अनुसार प्रत्येक वार्ड में गाड़ी 3 दिनों के लिए रहेगी। जिलाधिकारी ने निर्धारित कार्य योजना की कॉपी संबंधित वार्ड पार्षद को अग्रिम रूप से उपलब्ध कराने का निर्देश दिया ताकि वार्ड पार्षदों द्वारा अपने-अपने वार्डों में सभी लोगों को टीकाकरण से संबंधित सूचना दे सकें।

जिलाधिकारी ने नगर निगम क्षेत्र में टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए टीम बनाने तथा उसे टीका एक्सप्रेस एवं वार्ड से संबद्ध करने का निर्देश दिया। उन्होंने वार्डों में निर्धारित तिथि को तय समय पर ही टीका एक्सप्रेस के पहुंचने की पुख्ता व्यवस्था करने का निर्देश दिया।

व्यापक प्रचार प्रसार करने का दिया निर्देश
नगर निगम क्षेत्र में टीकाकरण के महत्वपूर्ण अभियान को सफल बनाने के लिए प्रत्येक वार्ड में लोगों के बीच व्यापक प्रचार-प्रसार करने का निर्देश दिया। इसके लिए घर-घर भ्रमण कर टीका एक्सप्रेस के आगमन की तिथि सेशन साइट आदि के बारे में लोगों को जानकारी देने को कहा गया।

किस प्रकार के टीके लगेंगे
निर्धारित कार्यक्रम के अनुरूप वार्डों में 15 वर्ष से 18 वर्ष तक के बच्चों का टीके लगाए जाएंगे। इसके अतिरिक्त प्रिकॉशनरी डोज की भी व्यवस्था रहेगी। इसके तहत वैसा फ्रंटलाइन वर्कर अथवा हेल्थ केयर वर्कर जिन्हें सेकेंड डोज लिए 9 माह बीत गए हैं, वे बूस्टर डोज ले सकते हैं। साथ ही 60 वर्ष से अधिक आयु के वैसे सामान्य नागरिक जो गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं तथा जिनका सेकंड डोज लिए 9 माह बीत चुके हैं वे भी प्रिकॉशनरी डोज ले सकते हैं। इसके अतिरिक्त जनरल टीकाकरण के रूप में फर्स्ट एवं सेकंड डोज के छूटे हुए व्यक्तियों को भी टीका लेने की व्यवस्था रहेगी। नगर निगम के कर्मी भी फ्रंटलाइन वर्कर के रूप में हैं। इसलिए वे भी बूस्टर डोज ले सकते हैं।

Leave a Reply